Home एग्रीकल्चर पालिसी किसान पेंशन स्कीम का प्रीमियम पीएम-किसान सम्मान निधि से काटने की तैयारी
किसान पेंशन स्कीम का प्रीमियम पीएम-किसान सम्मान निधि से काटने की तैयारी
किसान पेंशन स्कीम का प्रीमियम पीएम-किसान सम्मान निधि से काटने की तैयारी

किसान पेंशन स्कीम का प्रीमियम पीएम-किसान सम्मान निधि से काटने की तैयारी

केंद्र सरकार किसानों को पेंशन देने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम के तहत मिलने वाली किस्तों में से प्रीमियम की राशि काटने की तैयारी कर रही है। इससे पैसा सरकारी खजाने में ही रहेगा। हालांकि इससे पेंशन लेने वाले किसानों की संख्या में भी बढ़ोतरी होने का अनुमान है।

कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार केंद्र सरकार के पास प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम के लाभार्थियों का 8 करोड़ से ज्यादा डाटाबेस आ चुका है। इन सभी किसानों को प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के तहत पेंशन योजना से जुड़ने के लिए संदेश भेजे जा रहे हैं। जिन किसानों का रजिस्ट्रेशन पीएम-किसान स्कीम में हो चुका है वे अंशदान करने का विकल्‍प चुन सकते हैं। उन्हें अपनी जेब से पैसा नहीं देना पड़ेगा। उन्होंने बताया कि देशभर में 14.5 करोड़ किसान हैं, जिनमें से करीब 12 करोड़ किसान प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के तहत पेंशन योजना के दायरे में आएंगे।

ऐच्छिक है पीएम-किसान पेंशन योजना

उन्होंने बताया कि पीएम-किसान पेंशन योजना ऐच्छिक है। जो किसान पीएम किसान सम्मान निधि स्कीम से प्रीमियम का भुगतान करना चाहते हैं, उन्हें शपथ पत्र और आधार नंबर देना पड़ेगा। उनकी पेंशन स्कीम का प्रीमियम किसान सम्मान निधि के पैसे में से कट जाएगा। उन्होंने बताया कि पीएम-किसान मानधन योजना में प्रारंभिक नामांकन का काम ‘साझा सेवा केंद्र’ (सीएससी) के माध्यम से किया जा रहा है। नामांकन के लिए किसानों को कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा। किसान के खातों में जमा रकम पर बाद में कोई विवाद खड़ा होता है तो उसका समाधान करने का काम एलआईसी (एलआईसी) का होगा।

पेंशन के लिए हर महीने 55 से 200 रुपये प्रीमियम

पेंशन योजना में 18 से 40 वर्ष के किसान शामिल हो सकते हैं उन्हें हर महीने 55 रुपये से 200 रुपये का प्रीमियम देना होगा। किसानों के योगदान के बराबर ही केंद्र सरकार भी अपनी ओर से योगदान देगी। प्रीमियम की राशि किसानों की उम्र के आधार पर निर्भर करेगी। इस योजना में शामिल किसानों को 60 साल की आयु पूरी होने पर 3,000 रुपये की मासिक पेंशन दी जायेगी। किसान की मृत्यु होने की स्थिति में आश्रित को 1,500 रुपये की मासिक पेंशन मिलेगी।

पीएम-किसान सम्मान निधि योजना में 8 करोड़ किसानों का हो चुका है रजिस्ट्रेशन

पीएम-किसान सम्मान निधि योजना की शुरुआत 24 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से की थी। इस योजना के तहत किसानों को साल में तीन किस्तों में 6,000 रुपये दिए जाने हैं। पीएम-किसान सम्मान निधि योजना के तहत देशभर के 8 करोड़ किसानों का रजिट्रेशन हो चुका है तथा पात्र 6.25 करोड़ किसानों को पहली और 3.81 करोड़ किसानों को दूसरी किस्त मिल चुकी है।