Home एग्रीकल्चर पालिसी किसान अब कॉमन सर्विस सेंटर पर पीएम-किसान योजना के लिए करा सकेंगे पंजीकरण
किसान अब कॉमन सर्विस सेंटर पर पीएम-किसान योजना के लिए करा सकेंगे पंजीकरण
किसान अब कॉमन सर्विस सेंटर पर पीएम-किसान योजना के लिए करा सकेंगे पंजीकरण

किसान अब कॉमन सर्विस सेंटर पर पीएम-किसान योजना के लिए करा सकेंगे पंजीकरण

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (पीएम-किसान योजना) के लाभार्थियों की पहचान में आ रही परेशानी को दूर करने के लिए केंद्र सरकार अब कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) का सहारा लेगी। पीएम-किसान योजना के दायरे में देशभर के 14 करोड़ से अधिक किसान आएंगेलेकिन अभी तक पंजीकरण केवल 7.97 करोड़ किसानों का हो पाया है।

कृषि मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पीएम-किसान योजना में पात्र लाभार्थी कॉमन सर्विस सेंटर केंद्र पर जाकर अपना पंजीकरण करा सकते हैं। उन्होंने बताया कि करीब 14 करोड़ किसानों के नामांकन के लक्ष्य को पूरा करने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्रालय के तहत आने वाली सीएससी ई-गवर्नेंस सर्विसेज के साथ करार किया है।

पहली फरवरी 2019 तक ही किया जाना है पंजीकरण

उन्होंने बताया कि पीएम-किसान योजना के तहत अभी तक देशभर के केवल 7.97 करोड़ किसानों का ही पंजीकरण हो पाया है। पंजीकृत 7.37 करोड़ किसानों को पहली, 6.28 करोड़ किसानों को दूसरी और 3.78 करोड़ किसानों को तीसरी किस्त मिली है। इस स्कीम के तहत किसानों का पंजीकरण पहली फरवरी 2019 तक ही किया जाना हैतथा पात्र लाभार्थियों की पहचान की जिम्मेदारी राज्य सरकारों की है। इसलिए राज्यों को पात्र किसानों को नजदीक के कॉमन सर्विस सेंटर पर पंजीकरण कराने की जानकारी देने के लिए कहा गया है।

किसानों द्वारा पंजीकरण कराने के बाद राज्य सरकार के पास भेजा जाता है डेटा

उन्होंने बताया कि कॉमन सर्विस सेंटर पर किसान बैंक खाते के साथ ही आधार कार्ड में नाम को दुरुस्त करा सकेंगे। इससे पात्र लाभार्थियों की संख्या में तो बढ़ोतरी होगी हीसाथ ही फार्म में गलती नहीं होने के कारण लाभार्थी के खाते में किस्त भी समय पर पहुंचेगी। उन्होंने बताया कि पीएम-किसान सम्मान निधि पोर्टल पर स्वयं पंजीकृत किसानों के विवरण भी राज्य सरकारों के पास भेजे जाते हैंजहां से आधार व भू-राजस्व के रिकॉर्ड की जांच के बाद उनकी पात्रता की जांच की जाती है तथा जांच की इन प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद ही पात्र किसानों के खाते में पीएम-किसान योजना की राशि का हस्तांतरण किया जाता है।

किसान का पंजीकरण होने के बाद ही योजना का मिलेगा लाभ

पीएम-किसान सम्मान निधि में पात्र किसान परिवार को 2,000 रुपये की तीन समान किस्तों में सालाना 6,000 रुपये सीधे हस्तांतरित किए जाते हैं। किसानों को इस योजना का लाभ पिछले साल दिसंबर महीने से ही दिया जा रहा है। मगर इसके लिए किसानों को पंजीकरण करवाना अनिवार्य है।