Home एग्रीकल्चर पालिसी किसानों को लेनी है पेंशन तो जमा करना होगा पैसा, पीएम-किसान सम्मान सभी को
किसानों को लेनी है पेंशन तो जमा करना होगा पैसा, पीएम-किसान सम्मान सभी को
किसानों को लेनी है पेंशन तो जमा करना होगा पैसा, पीएम-किसान सम्मान सभी को

किसानों को लेनी है पेंशन तो जमा करना होगा पैसा, पीएम-किसान सम्मान सभी को

मोदी सरकार ने पहली ही कैबिनेट बैठक में किसानों को पेंशन देने की घोषणा कर दी है लेकिन किसानों को पेंशन लेने के लिए पैसा जमा कराना होगा। इसके तहत 18 वर्ष की आयु के किसान को 55 रुपये प्रति महीने का योगदान देना होगा। इसके अलावा पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत अब देश के सभी किसानों को सालाना 6,000 रुपये देने का निर्णय लिया है।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की अपनी पहली कैबिनेट बैठक में किसानों और छोटे व्यापारियों के लिए पेंशन योजना का एलान किया गया है। इस योजना का भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने घोषणापत्र में वादा किया गया था। पेंशन का लाभ लेने के लिए 18 वर्ष की आयु के किसान को 55 रुपये प्रति महीने का योगदान देना होगा। सरकार भी इतनी ही राशि का योगदान देगी। किसान की उम्र बढ़ने के साथ-साथ योगदान की राशि भी बढ़ेगी। पेंशन योजना के तहत 18 से 40 वर्ष आयु के किसानों को 60 साल की उम्र के बाद प्रति महीने 3 हजार रुपये पेंशन मिलेगी।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत अब सभी किसानों को सालाना 6,000 रुपये मिलेंगे।पीएम किसान योजना पहले सिर्फ लघु और सीमांत किसानों के लिए थी। लेकिन भाजपा ने अपने चुनावी संकल्प पत्र में इस योजना में सभी किसानों को शामिल करने का वादा किया था, जिस पर पहली ही कैबिनेट की बैठक में मुहर लगाई गई। इस योजना का देश के 14.5 करोड़ किसानों को सीधा लाभ मिलेगा।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना पर अब खर्च होंगे 87 हजार करोड़

कैबिनेट बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी देते हुए कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि किसान की आमदनी अगले 5 साल में दोगुनी करने की कोशिश करेंगे। फसल की लागत का कम से कम डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) मिले, यह प्रधानमंत्री मोदी ने सुनिश्चित किया। कृषि मंत्री ने कहा कि पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 3 करोड़ से अधिक किसानों के खातों में पैसा पहुंच चुका है।

पीएम किसान सम्मान के दायरे में थे 12.5 करोड़ किसान

अभी तक 12.5 करोड़ किसान इस योजना के तहत कवर हो रहे थे। करीब 2 करोड़ किसान छूट रहे थे। अब सभी किसान इसके दायरे में होंगे। इस योजना पर पहले 75 हजार करोड़ खर्च होते लेकिन अब 12 हजार करोड़ रुपये और बढ़ेगा खर्च। यानी अब 87 हजार करोड़ रुपये सालाना खर्च होगा। वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट कर कहा कि इन फैसलों के जरिए सरकार ने पहली ही कैबिनेट बैठक में अपने प्रमुख चुनावी वादों को पूरा किया है।

किसानों और छोटे व्यापारियों के लिए पेंशन योजना

इसके अलावा किसानों और छोटे व्यापारियों के लिए पेंशन योजना का भी एलान किया गया है। पेंशन योजना के तहत 18 से 40 वर्ष आयु के लोगों को 60 साल की उम्र के बाद प्रति महीने 3 हजार रुपये पेंशन मिलेगी। इस योजना में 10 हजार करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। पेंशन स्कीम के तहत 18 वर्ष के उम्र के शख्स को 55 रुपये प्रति महीने का योगदान देना होगा। सरकार भी इतने का ही योगदान देगी। उम्र के हिसाब से योगदान की राशि बढ़ेगी।

पहले चरण में पांच करोड़ लोग होंगे कवर

कृषि मंत्री तोमर ने कहा कि इन योजनाओं से किसानों, छोटे व्यापारियों के जीवनस्तर में सुधार होगा और उन्हें सामाजिक सुरक्षा मिलेगी। उन्होंने बताया कि पेंशन योजना के तहत 12 से 13 करोड़ लोग कवर होंगे। पहले चरण में 5 करोड़ लोगों को कवर करने का लक्ष्य है।