Home एग्रीकल्चर पालिसी पीएसएसी कृषि और इससे जुड़े क्षेत्रों पर ध्यान केन्द्रित करें : अमरिन्दर सिंह
पीएसएसी कृषि और इससे जुड़े क्षेत्रों पर ध्यान केन्द्रित करें : अमरिन्दर सिंह
पीएसएसी कृषि और इससे जुड़े क्षेत्रों पर ध्यान केन्द्रित करें : अमरिन्दर सिंह

पीएसएसी कृषि और इससे जुड़े क्षेत्रों पर ध्यान केन्द्रित करें : अमरिन्दर सिंह

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने पंजाब राज्य सलाहकार काउंसिल (पीएसएसी) को कृषि और इससे जुड़े क्षेत्रों पर ध्यान केन्द्रित करने के लिए कहा है ताकि कृषि आधारित आर्थिकता को और बढ़ावा दिया जा सके।

पीएसएसी की दूसरी मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने अच्छी कार्य नीति तैयार करने की जरूरत की वकालत की जिससे फार्मा, आईटी, ऑटो क्षेत्रों में बड़े निवेशकों को आकर्षित किया जा सके। राज्य में औद्योगिक विकास और परंपरागत कृषी के कारण कृषि क्षेत्र में आई रोजगार की रुकावट के मद्देनजर नौजवानों के लिए अन्य क्षेत्रों में रोजगार के मौके तलाशने पर जोर देते हुए उन्होंने कहा कि चरणबद्ध विविधीकरण के लिए समयबद्ध कार्य योजनाएं तैयार करना ही समय की मांग है।

मुख्यमंत्री ने जानकारों को अपने अनुभव और विशेषज्ञता का इस्तेमाल करके राज्य सरकार की मदद करने की अपील की, जिससे प्रशासकीय सुधारों हेतु तैयार की सभ्य रूपरेखा को लागू किये जाने के लिए सरकार और नागरिकों की भागीदारी को यकीनी बनाया जा सके। उन्होंने युवाओं को प्रगति के मार्ग पर डालने के लिए क्षमता निर्माण प्रोग्रामों और शिक्षा प्रणाली में सुधार करने के लिए भी सदस्यों से सुझाव मांगे जिससे युवाओं को राज्य की प्रगति का अभिन्न अंग बनाया जा सके।

भूजल स्तर में गिरावट और किसानों की आय बढ़ाने पर जोर

इस दौरान अमरीका की हॉपकिंस यूनिवर्सिटी से प्रो. देवेश कपूर ने सरकार को अपनी मौजूदा चुनौतियों के साथ नपटने के लिए नीति और ढांचागत बदलाव अपनाने की जरूरत संबंधी अपने विचार साझे किये जिसमें भूजल के स्तर में गिरावट, किसानों की आय में आ रही रुकावट और जरूरतों समेत आर्थिक विकास को तेज करने के लिए शहरी विकास पर और ज्यादा ध्यान केंद्रित किया गया। इस दौरान स्कूल शिक्षा, कृषि, युवा व्यस्तताओं और जिला प्रशासन के साथ जुड़े अलग-अलग पहलूओं पर भी विचार किया गया। सदस्यों ने राज्य को फिर से पैरों पर खड़ा करने और इसके पर्यटन को प्रफुल्लित करने संबंधी संभावनाओं का लाभ उठाने की महत्ता पर भी जोर दिया।पीएसएसी का गठन पिछले साल राज्य सरकार ने प्रशासन के अहम क्षेत्रों में बदलाव लाने और पंजाब के सर्वपक्षीय विकास की प्रक्रिया को तेज करने के लिए कैप्टन अमरिन्दर सिंह की अध्यक्षता में किया गया था।

पीएसएसी को आपस में तालमेल बनाकर सफल सुझाओं को लागू करने की जरुरत

उन्होंने पीएसएसी के सदस्यों को आपस में सभ्य तालमेल बनाकर काम करने और सफल सुझावों के लागू किये जाने को यकीनी बनाने के लिए भी मुख्य सचिव को कहा। इस मीटिंग के दौरान राज्य को पेश चुनौतियों और इनसे निपटने के लिए योग्य दृष्टिकोण अपनाए जाने संबंधी बातों पर विचार-विमर्श किया गया ताकि राज्य की पुरानी शान और पहचान को पुनर्जीवित करके राज्य को सामाजिक और आर्थिक क्षेत्र में देश का अग्रणी राज्य बनाया जा सके। मीटिंग में बोर्ड के मैंबर जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी (अमरीका) के प्रो. देवेश कपूर, रवी वेंकटेशन, टी नन्दा कुमार, यामिनी अय्यर और डॉ. ज्ञानेंद्र बडगैयान के अलावा मुख्यमंत्री के मुख्य प्रमुख सचिव सुरेश कुमार, मुख्य सचिव करण अवतार सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव प्रशासकीय सुधार विनी महाजन, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव तेजवीर सिंह, विशेष सचिव प्रशासकीय सुधार रवि भगत और डायरेक्टर प्रशासकीय सुधार परमिन्दर पाल सिंह उपस्थित थे।

एजेंसी इनपुट