Home एग्रीकल्चर न्यूज पंजाब में 12 अप्रैल से होगी गेहूं की कटाई शुरू : मुख्यमंत्री
पंजाब में 12 अप्रैल से होगी गेहूं की कटाई शुरू : मुख्यमंत्री
पंजाब में 12 अप्रैल से होगी गेहूं की कटाई शुरू : मुख्यमंत्री

पंजाब में 12 अप्रैल से होगी गेहूं की कटाई शुरू : मुख्यमंत्री

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को घोषणा की, कि राज्य में गेहूं की कटाई मौसम की स्थिति के अनुसार अप्रैल के मध्य से शुरू होगी, साथ ही उन्होंने किसानों को खरीद और समय पर भुगतान का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री ने आलू और गेहूं की फसल की कटाई की व्यवस्था की समीक्षा के बाद कहा कि मौसम की स्थिति के कारण गेहूं की कटाई में देरी हो रही है और राज्य में 12-15 अप्रैल तक गेहूं की कटाई शुरू होने की संभावना है। अमरिंदर सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा गेहूं के किसानों को समय पर भुगतान करने और खरीद को सुनिश्चित किया गया है, साथ ही उन्होंने कहा कि आलू की फसल के भंडारण की उचित व्यवस्था की जा रही है।

गेहूं कटाई के लिए दिशानिर्देश 31 मार्च तक होंगे जारी

एक आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार गेहूं कटाई के लिए दिशानिर्देश 31 मार्च तक जारी किए जाने की उम्मीद है। इस बीच, मुख्यमंत्री ने बागवानी विभाग, पंजाब एग्रो इंडस्ट्रीज कॉरपोरेशन और पंजाब मंडी बोर्ड के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे संबंधित जिलों के अधिकारियों के तालमेल के साथ काम करें, ताकि किसानों को फसल की कटाई तथा परिवहन में किसी प्रकार की परेशानी नहीं आये। इसी तरह से बागवानी उत्पादों की ढुलाई सुनिश्चित की जाए।

किसानों को किसी प्रकार की परेशानी ना हो इसलिए अधिकारियों की लिस्ट होगी जारी

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि जिला मंडी अधिकारियों की एक विस्तृत सूची, उनके संपर्क नंबरों के साथ, पंजाब मंडी बोर्ड द्वारा जारी की गई है ताकि किसान संबंधित अधिकारी से संपर्क कर सकें। मुख्यमंत्री के निर्देश के अनुसार, अतिरिक्त मुख्य सचिव विकास-सह-वित्तीय आयुक्त बागवानी ने भी एक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें सभी उपायुक्तों को बाजारों में सब्जियों और फलों के साथ-साथ कोल्ड स्टोरेज के साथ ही कृषि उपज की कटाई और ढुलाई के लिए खेत मजदूरों और किसानों को छूट देने के लिए कहा गया है।

आवश्यक वस्तुओं की नियमित आपूर्ति को बनाए रखने पर जोर

राज्यव्यापी लॉकडाउन के इस महत्वपूर्ण समय में बागवानी उत्पादों की आवश्यक वस्तुओं की नियमित आपूर्ति को बनाए रखने के महत्व को रेखांकित करते हुए, उन्होंने निर्देश दिया कि सोशल डिस्टेंस, मास्क का उपयोग, हाथ धोने आदि स्वास्थ्य संबंधी सलाह का कडाई से पालन किया जाए। निदेशक बागवानी शैलेंदर कौर ने किसानों की एक सूची प्रदान की है जिन्हें कटाई के लिए श्रम की आवश्यकता होती है और अपनी उपज को बाजारों और साथ ही कोल्ड स्टोरों में परिवहन की आवश्यकता होती है।