Home एग्रीकल्चर न्यूज खरीफ फसलों की बुआई में आया सुधार, धान की रोपाई 2.79 फीसदी पीछे
खरीफ फसलों की बुआई में आया सुधार, धान की रोपाई 2.79 फीसदी पीछे
खरीफ फसलों की बुआई में आया सुधार, धान की रोपाई 2.79 फीसदी पीछे

खरीफ फसलों की बुआई में आया सुधार, धान की रोपाई 2.79 फीसदी पीछे

खरीफ फसलों की बुआई में सुधार तो आया है लेकिन धान के साथ ही दलहन की बुआई अभी भी पीछे चल रही है। धान की रोपाई में पिछले साल की तुलना में 2.79 फीसदी और दलहन की बुआई में 1.95 फीसदी कमी आई है। कृषि मंत्रालय के अनुसार चालू खरीफ में फसलों की कुल बुआई 0.59 फीसदी घटकर 1,029.49 लाख हेक्टेयर में ही हो पाई है जबकि पिछले साल इस समय तक 1,035.66 लाख हेक्टेयर में हो चुकी थी।

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार पहली जून से 6 अगस्त तक देशभर में सामान्य से एक फीसदी बारिश कम हुई है। इस दौरान सामान्यत: 762.5 मिलीमीटर बारिश होती है जबकि हुई है 751.5 मिलीमीटर बारिश होती है। देशभर के 36 सब डिवजीनों में से इस दौरान 55 फीसदी क्षेत्रफल में बारिश सामान्य हुई है, जबकि 30 फीसदी में सामान्य से ज्यादा हुई है। हलाांकि अभी भी देश के 15 फीसदी क्षेत्रफल में इस दौरान सामान्य से कम बारिश दर्ज की गई है।

धान, दलहन की बुआई में आई कमी

धान की रोपाई चालू खरीफ में 2.70 फीसदी पिछड़ कर अभी तक केवल 365.69 लाख हेक्टेयर में ही हो पाई है जबकि पिछले साल इस समय तक 376.19 लाख हेक्टेयर में हो चुकी थी। दालों की बुआई भी घटकर 130.04 लाख हेक्टेयर में ही पाई है जोकि पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 1.95 फीसदी घटी है। पिछले साल इस समय तक देशभर में 132.63 लाख हेक्टेयर में दालों की बुआई हो चुकी थी। खरीफ दलहन की प्रमुख फसल अरहर की बुआई 44.95 लाख हेक्टेयर में हुई है जबकि पिछले साल इस सयम तक 44.76 लाख हेक्टेयर में बुआई हो चुकी थी। मूंग की बुआई चालू खरीफ में घटकर 30.48 और उड़द की 37.52 लाख हेक्टेयर में ही हुई है जबकि पिछले साल की समान अवधि में इनकी बुआई क्रमश: 33.73 और 38.18 लाख हेक्टेयर में हो चुकी थी।

मक्का एवं बाजरा की बुआई बढ़ी, ज्वार की घटी

मोटे अनाजों की बुआई पिछले साल के 172.50 लाख हेक्टेयर से बढ़कर चालू खरीफ में 175.27 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है। मोटे अनाजों में मक्का की बुआई चालू खरीफ में बढ़कर 79.64 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक 77.73 लाख हेक्टेयर में ही बुआई हुई थी। बाजरा की बुआई भी चालू खरीफ में बढ़कर 65.62 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है जबकि पिछले साल इस समय तक 65.02 लाख हेक्टेयर में ही बुआई हुई थी। ज्वार की बुआई पिछले साल के 17.49 लाख हेक्टेयर से घटकर चालू सीजन में 16.40 लाख हेक्टेयर में ही हुई है। रागी की बुवाई पिछले साल की समान अवधि के 7.67 लाख हेक्टेयर से बढ़कर 9.08 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है।

सोयाबीन और कपास की बुआई ज्यादा, मूंगफली की कम

तिलहन की बुआई चालू खरीफ में 173.34 लाख हेक्टेयर में ही हुई है जबकि पिछले साल इस समय तक 173.55 लाख हेक्टेयर में ही बुआई हो चुकी थी। खरीफ तिलहन की प्रमुख फसल सोयाबीन की बुआई पिछले साल के 111.79 लाख हेक्टेयर से बढ़कर 112.71 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है। मूंगफली की बुआई चालू खरीफ में घटकर 37.51 लाख हेक्टेयर में ही हुई है जबकि पिछले साल इस समय तक 39.68 लाख हेक्टेयर में हो चुकी थी। कपास की बुआई चालू खरीफ में पिछले साल के 118.10 लाख हेक्टेयर से बढ़कर 125.86 लाख हेक्टेयर में हो चुकी है। गन्ने की बुआई चालू खरीफ में 52.45 लाख हेक्टेयर में ही हुई है जबकि पिछले साल इस समय तक 55.51 लाख हेक्टेयर में बुआई हो चुकी थी।