Home एग्रीकल्चर न्यूज किसान संगठनों का 19 अक्टूबर से कृषि कानूनों के खिलाफ प्रचार का फैसला
किसान संगठनों का 19 अक्टूबर से कृषि कानूनों के खिलाफ प्रचार का फैसला
किसान संगठनों का 19 अक्टूबर से कृषि कानूनों के खिलाफ प्रचार का फैसला

किसान संगठनों का 19 अक्टूबर से कृषि कानूनों के खिलाफ प्रचार का फैसला

हरियाणा में यहां शहीद भगत सिंह स्टेडियम में आंदोलनरत किसान संगठनों ने केंद्र सरकार के कृषि सुधार कानूनों के विरोध में 19 अक्टूबर से प्रचार अभियान शुरू करने का फैसला लिया है।

हरियाणा किसान मंच के प्रदेशाध्यक्ष प्रहलाद सिंह भारूखेड़ा ने बताया कि 17 किसान संगठनों के नेताओं की हुई एक बैठक में सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रचार के लिये बकायदा किसान संगठनों के पदाधिकारियों और किसानों की टीमें बनाई जाएंगी जो गांव-गांव जाकर इन कानूनों के प्रति किसानों को जागरूक करेंगी। 22 अक्तूबर को पूरे प्रदेश में किसान तीनों कृषि कानून वापिस लेने और उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के इस्तीफे की मांग को लेकर सभी जिलों में ज्ञापन देंगे। शुक्रवार से सीएम सिटी करनाल में गुरुमुख सिंह की अध्यक्षता में सिरसा के किसानों के आंदोलन के समर्थन में धरना शुरू किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अगर सरकार फिर भी नहीं चेती तो इस आंदोलन को राष्ट्रीय स्तर पर लेकर जाएंगे।

बैठक में भारतीय किसान यूनियन से जोगेंद्र घासीराम नैन, भारतीय किसान यूनियन (अ) के महासचिव दिलबाग हुड्डा, भारतीय किसान संघर्ष समिति से विकास सिसर, भारतीय किसान मजदूर नौजवान यूनियन से राजेंद्र आर्य और अन्य संगठनों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।