Home एग्रीकल्चर न्यूज मोदी सरकार ने वादा नहीं निभाया इसलिए हर रोज आत्महत्या कर रहे हैं किसान-राहुल
मोदी सरकार ने वादा नहीं निभाया इसलिए हर रोज आत्महत्या कर रहे हैं किसान-राहुल
मोदी सरकार ने वादा नहीं निभाया इसलिए हर रोज आत्महत्या कर रहे हैं किसान-राहुल

मोदी सरकार ने वादा नहीं निभाया इसलिए हर रोज आत्महत्या कर रहे हैं किसान-राहुल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को दावा किया कि देश में हर रोज किसानों की आत्महत्या देखी जा रही है क्योंकि मोदी सरकार किसानों की दुर्दशा को कम करने के अपने वादे को पूरा करने में विफल रही है। ओडिशा के बरगढ़ को "चावल का कटोरा" बताते हुए, कांग्रेस प्रमुख ने कहा कि इस जिले में किसान आत्महत्या कर रहे हैं, क्योंकि केंद्र में भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र और राज्य में बीजू जनता दल सरकार किसानों की समस्याओं को दूर करने में विफल रही।

पश्चिम ओडिशा के बरगढ़ शहर में एक जनसभा में उन्होंने कहा कि किसानों की आत्महत्या की खबरें रोज आ रही हैं क्योंकि मोदी सरकार ने अपने वादे नहीं निभाए। किसानों के कल्याण के बारे में लंबे दावे तो किए लेकिन इससे न तो उनके कर्ज माफ हुए और न ही धान के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में बढ़ोतरी हुई।

उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्यमंत्री ने वादा किया था कि कोल्ड स्टोरेज का पूरे ओडिशा में जाल बिछा देंगे, उन्होंने पानी देने का वादा किया, सिंचाई का वादा किया। इसी तरह से हर भाषण में मोदी किसानों की बात करते हैं, किसानों को सही दाम देने की बात करते हैं, मगर पिछले पांच साल में मोदी जी ने हिन्दुस्तान के सबसे अमीर 15-20 लोगों का साढ़े तीन लाख करोड़ रुपया माफ किया है, जिनके पास पैसे की कोई कमी नहीं है।

किसानों का कर्जा माफ किया और जमीन वापिस दी

विजय माल्या, नीरव मोदी, ललित मोदी, अनिल अंबानी, मेहुल चौकसी ये नाम शामिल है। हिन्दुस्तान या ओडिशा का किसान कर्जा माफ करने की बात करता है तो वित्तमंत्री अरुण जेटली कहते हैं कि किसान का कर्जा माफ करना हमारी पाॅलिसी नहीं है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री यहीं बैठे हैं। छत्तीसगढ़ में 10 दिन में किसानों का कर्जा माफ किया। किसानों की जमीन जो कारखाना बनने के लिए ली गई थी, पांच साल में कारखाना नहीं बना तो किसानों को वापिस दी गई।

हमने छत्तीसगढ़ के किसानों को धान के 2,500 रुपये दिए

धान के लिए किसानों को 2,500 रुपये प्रति क्विंटल हमारी सरकार दे रही है। मैंने भूपेश बघेल को 10 दिन का समय दिया था मगर 6 घंटे के अन्दर किसानों का कर्जा माफ कर दिया। धान का समर्थन मूल्य दिलाया, आदिवासियों की जमीन वापस करवा दी। जमीन अधिग्रहण कानून छत्तीसगढ़ सरकार ने लागू किया। मोदी जी लोकसभा एवं राज्यसभा में उस कानून को रद्द करने की कोशिश करते रहे। तीन बार मोदी जी ने यह कोशिश की। यहां नवीन ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया मगर छत्तीसगढ़ चलिए और देखिये वहां की सरकार किसानों के लिए क्या कर रही है। हम जो कहते हैं वह करके दिखाते हैं। हमने जो छत्तीसगढ़ में किया वह ओडिशा में भी करना चाहते हैं। मैं झूठा वादा नहीं करता। किसान के खेत को हिन्दुस्तान के बड़े शहरों से जोड़ेंगे।