Home एग्रीकल्चर न्यूज प्याज पर कांग्रेस का संसद परिसर में प्रदर्शन, मंत्रियों के समूह की बैठक
प्याज पर कांग्रेस का संसद परिसर में प्रदर्शन, मंत्रियों के समूह की बैठक
प्याज पर कांग्रेस का संसद परिसर में प्रदर्शन, मंत्रियों के समूह की बैठक

प्याज पर कांग्रेस का संसद परिसर में प्रदर्शन, मंत्रियों के समूह की बैठक

पूरे देशभर में प्याज की कीमतें आसमान छू रही है। देश के कई राज्यों में प्याज की कीमत 150 रुपये को पार चुकी है इसके लिए विपक्षी दल सरकार पर जमकर हमला बोल रहे हैं। कांग्रेसी नेताओं ने प्याज की कीमतों में लेकर प्रदर्शन किया, जिसमें हाल ही में जेल से बाहर आए कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने भी हिस्सा लिया। संसद परिसर में कई कांग्रेस नेताओं ने हाथों में तख्तियां लिए प्रदर्शन किया। कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि सरकार प्याज की कीमतों पर लगाम लगाने के लिए कुछ भी नहीं कर रही। इस दौरान लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद थे।

प्याज के मुद्दे पर आज शाम गृहमंत्री अमित शाह की अगुवाई में होगी मंत्रियों के समूह की अहम बैठक बुलाई है। बैठक में पीयूष गोयल, रामविलास पासवान, केंद्रीय कृषि मंत्री और पीएम के अधिकारी भी शामिल होंगे तथा प्याज की कीमतों पर जल्द से जल्द काबू पाने के लिए तुरंत कदम उठाने पर चर्चा होगी।

खाद्य एवं उपभोक्ता मामले मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि प्याज की उपलब्धता बढ़ाने के लिए एमएमटीसी ने 6,090 टन प्याज इजिप्ट से और 11,000 टन तुर्की से मंगाया है जो 15 दिसंबर से 15 जनवरी के बीच उपलब्ध हो जाएगा। तुर्की से और 4,000 टन प्याज जनवरी के मध्य तक बाजार में आ जाएगा। इसके अलावा 5-5 हजार टन के तीन नये टेंडर एमएमटीसी ने और भी निकाले हैं। उन्होंने कहा कि बाजार में प्याज की बढ़ी कीमतों को नियंत्रित करने के लिए सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। इस बार मानसून में एक महीने की देरी के कारण प्याज की बुवाई में देरी भी हुई और पिछले साल से कम रकबे में बुवाई हुई जिसके कारण उत्पादन घटा और नई फसल के भी बाजार में आने में देर हो रही है।

उपभोक्ता मामले मंत्रालय के अनुसार गुरूवार को हिसार में प्याज का थोक भाव 110 रुपये, देहरादून में 100 रुपये, मुंबई में 120 रुपये, बालासौर में 120 रुपये, कटक में 130 रुपये और कोलक्कता में 120 रुपये प्रति किलो रहे। राष्ट्रीय बागवानी अनुसंधान एवं विकास प्रतिष्ठान (एनएचआरडीएफ) के अनुसार महाराष्ट्र की सोलापुर मंडी में बढ़िया क्वालिटी के लाल प्याज का दाम थोक में बुधवार को बढ़कर 151 रुपये प्रति किलो हो गया। राज्य की पीपलगांव मंडी में अच्छी क्वालिटी के प्याज का भाव 133 रुपये, मुंबई में प्याज का दाम बढ़कर 130 रुपये और कोल्हापुर में 110 रुपये प्रति किलो हो गया। बंगुलरु में प्याज का दाम बढ़कर 120 से 140 रुपये प्रति किलो हो गया जबकि इस दौरान बेलगाम में प्याज के थोक दाम 150 रुपये प्रति किलो हो गए।

प्याज आयात के और सौदे किए

खाद्य एवं उपभोक्ता मामले मंत्रालय के अनुसार एमएमटीसी ने तुर्की से और 4,000 टन प्याज आयात के सौदे किए है जोकि मध्य जनवरी तक भारत पहुंचने की उम्मीद है। इससे पहले एमएमटीसी 17,090 टन प्याज आयात के सौदे पहले ही कर चुकी है। उपभोक्ता मामले मंत्रालय ने एमएमटीसी प्याज आयात के लिए और भी निविदा जारी करने को कहा है।

प्याज की कीमतों  पर मोदी सरकार पर सवाल

देश में प्याज की कीमतों को लेकर आम आदमी बेहाल है और राजनीतिक दल मोदी सरकार पर इसे लेकर सवाल उठा रहे हैं। वहीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बुधवार को कहा कि वह इतना लहुसन, प्याज नहीं खाती हैं और ऐसे परिवार से आती हैं जहां प्याज-लहुसन का ज्यादा मतलब नहीं है। वित्त मंत्री महाराष्ट्र के बारामती से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) की सांसद सुप्रिया सुले के सवालों पर जवाब देने के लिए खड़ी हुईं थी। उसी दौरान कुछ सदस्यों ने सवाल किया कि क्या आप (निर्मला सीतारमण) प्याज खाती हैं।

प्याज किसानों का मुद्दा उठाया

इससे पहले एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने एनपीए और प्याज किसानों का मुद्दा उठाया था। सुप्रिया सुले ने कहा कि मैं सरकार से प्याज के बारे में एक छोटा सा सवाल करना चाहती हूं। सरकार मिस्र से प्याज मंगा रही है, प्याज की व्यवस्था कर रही है, मैं सरकार के इस कदम की सराहना करती हूं। मैं महाराष्ट्र से आती हूं और महाराष्ट्र में बड़े पैमाने पर प्याज होता है, लेकिन मैं पूछना चाहती हूं कि प्याज का उत्पादन क्यों गिरा? हम चावल और दूध सहित बहुत सी चीजों का निर्यात करते हैं। छोटे किसान प्याज का उत्पादन करते हैं और उन्हें बचाए जाने की जरूरत है।