Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल भारत समेत अन्य देशों के साथ मिलकर टिड्डी विरोधी योजना तैयार करेगा पाकिस्तान
भारत समेत अन्य देशों के साथ मिलकर टिड्डी विरोधी योजना तैयार करेगा पाकिस्तान
भारत समेत अन्य देशों के साथ मिलकर टिड्डी विरोधी योजना तैयार करेगा पाकिस्तान

भारत समेत अन्य देशों के साथ मिलकर टिड्डी विरोधी योजना तैयार करेगा पाकिस्तान

पाकिस्तान, भारत, ईरान और अफगानिस्तान टिड्डी दलों के प्रकोप से निपटने की योजना बनाने के लिये 11 मार्च को वीडियो कांफ्रेंस करेंगे। सोमवार को मीडिया में आई खबर में यह बात कही गई है।

बीते तीन दशक से टिड्डी दलों के हमले इस क्षेत्र के लिये मुश्किल का सबब बने हुए हैं। वैज्ञानिकों के अनुसार भारत-पाकिस्तान सीमा पर हाल ही में टिड्डी दलों का प्रकोप पूरे क्षेत्र में सामान्य से अधिक मॉनसूनी वर्षा और हिंद महासागर में लगातार चक्रवातों के कारण देखने को मिला है।

पाकिस्तान, भारत, ईरान और अफगानिस्तान के कृषि मंत्री 11 मार्च को वीडियो कांफ्रेंस करेंगे

पाकिस्तान, भारत, ईरान और अफगानिस्तान के कृषि मंत्री टिड्डी दलों के प्रकोप से निपटने के लिये 11 मार्च को वीडियो कांफ्रेंस करेंगे। 'द एक्सप्रेस ट्रिब्यून' की खबर के अनुसार संयुक्त राष्ट्र के खाद्य एवं कृषि संगठन (एफओए) के प्रतिनिधि भी अबूधाबी से वीडियो लिंक के जरिये कांफ्रेंस में हिस्सा लेंगे। खाद्य एवं कृषि संगठन के अनुसार टिड्डियां दुनिया की सबसे पुरानी प्रवासी कीट हैं। संगठन के अनुसार मानव जीवन के लिए सबसे खतरनाक कीटों में से एक टिड्डियां काफी तेजी से पैदा होती हैं और तीन महीने में ही उनकी तादाद 20 गुणा तक बढ़ जाती है।

गुजरात, राजस्थान पंजाब और हरियाणा में पाकिस्तान से टिड्डियों से फसलों को नुकसान

एक वयस्क टिड्डी अपने वजन के बराबर खाना प्रतिदिन खा सकता है, तथा एक वर्ग कीलोमीटर के क्षेत्र में करीब 80 मिलियन वयस्क टिड्डे होते हैं। पाकिस्तान से भारतीय सीमा में आए टिड्डियों के दल ने गुजरात, राजस्थान और पंजाब के साथ ही हरियाणा में रबी फसलों को चालू रबी सीजन में भारी नुकसान पहुंचाया है जिससे किसानों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा है।

एजेंसी इनपुट