Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल पाकिस्‍तान में टिड्डियों का कहर, इमरान ने राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की
पाकिस्‍तान में टिड्डियों का कहर, इमरान ने राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की
पाकिस्‍तान में टिड्डियों का कहर, इमरान ने राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की

पाकिस्‍तान में टिड्डियों का कहर, इमरान ने राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की

पाकिस्‍तान में इन दिनों टिड्डियों का कहर जारी है, इसके चलते पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने देश में राष्‍ट्रीय आपात काल की घोषणा की है। इन टिड्डियों ने पाकिस्‍तान के पंजाब प्रांत में पूरी फसलों को तबाह कर दिया है। टिड्डियों से निपटने के लिए प्रधानमंत्री इमरान खान ने राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की है। पाकिस्तान से आई टिड्डियों ने भारत के गुजरात, राजस्थान और पंजाब तथा हरियाणा के कई जिलों में रबी फसलों को भारी नुकसान पहुंचाया है।

शुक्रवार को पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कैबिनेट की बैठक बुलाई थी। इस बैठक में संघीय मंत्रियों और चार प्रांतों के वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। प्रधानमंत्री के सलाहकार हफीज शेख भी शामिल थे। इस बैठक में एक राष्ट्रीय कार्य योजना (एनएपी) को भी मंजूरी दी गई। बैठक में सर्वसम्‍मति से आपतकाल लगाने पर निर्णय लिया गया। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मंत्री खुसरो बख्तियार ने संकट की स्थिति से निपटने के लिए संघीय और प्रांतीय सरकारों द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में नेशनल असेंबली को सूचित किया।

उच्च-स्तरीय समिति का किया गठन

प्रधानमंत्री खान ने टिड्डियों के उन्मूलन के लिए संघीय स्तर पर निर्णय लेने के लिए बख्तियार की अध्यक्षता में एक उच्च-स्तरीय समिति के गठन का आदेश दिया। प्रधानमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे फसलों को नुकसान के आधार पर तत्काल उपाय करें। रिपोर्ट में खान के हवाले से कहा गया है कि खेतों और किसानों की सुरक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसलिए, संघीय सरकार को राष्ट्रीय फसलों को बचाने और संबंधित क्वार्टरों को आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाने चाहिए।

बलूचिस्‍तान और यमन टिड्ड‍ियों का प्रजनन केंद्र

पाकिस्‍तान का बलूचिस्‍तान और यमन टिड्ड‍ियों का प्रजनन केंद्र माना जाता है। यहां सर्दी में टिड्डी का प्रजनन होता है। हवा का रुख बदलने से पाक व अन्‍य क्षेत्र से टिड्ड‍ियां भारत में भी प्रवेश करती है। सामान्‍यत: बारिश में ही पाकिस्‍तान से भारत तक ये टिड्ड‍ियां पहुंचती थी, लेकिन इस बार सर्दियों में बड़े पैमाने पर पाकिस्तान से टिड्ड‍ियों का दल भारत आया है, जिससे देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में फसलों को भारी नुकसान हुआ है। पाकिस्‍तान में टिड्डी नियंत्रण के बेहरत प्रबंध नहीं है। टिड्डी नियंत्रण दल के अधिकारियों के मुताबिक यमन में अच्‍छी बारिश होने से टिड्ड‍ियों का प्रकोप इस बार कुछ ज्‍यादा ही है।

एजेंसी इनपुट