Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल अक्टूबर में खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात 10 फीसदी बढ़ा, किसानों को नहीं मिल रहा समर्थन मूल्य
अक्टूबर में खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात 10 फीसदी बढ़ा, किसानों को नहीं मिल रहा समर्थन मूल्य
अक्टूबर में खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात 10 फीसदी बढ़ा, किसानों को नहीं मिल रहा समर्थन मूल्य

अक्टूबर में खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात 10 फीसदी बढ़ा, किसानों को नहीं मिल रहा समर्थन मूल्य

सरकार किसानों की आय वर्ष 2022 तक बढ़ाकर दोगुनी करने का लक्ष्य लेकर चल रही है, जबकि खाद्य तेलों के आयात में हो रही लगातार बढ़ोतरी से तिलहन किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) भी नहीं मिल पा रहा है। अक्टूबर में खाद्य एवं अखाद्य तेलों के आयात में जहां 10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, वहीं चालू तेल वर्ष नवंबर-18 से अक्टूबर-19 के दौरान खाद्य एवं अखाद्य तेलों के आयात में 3.5 फीसदी की बढ़ोतरी होकर कुल आयात 155.49 लाख टन का हुआ है।

खाद्य एवं अखाद्य तेलों के आयात में लगातार हो रही बढ़ोतरी से घरेलू मंडियों में किसानों को तिलहन की फसलें एमएसपी से नीचे बेचनी पड़ रही है। सोयाबीन प्रोसेसर्स एसोसिएशन आफ इंडिया (सोपा) के उपाध्यक्ष नरेश गोयनका ने बताया कि उत्पादक मंडियों में सोयाबीन के भाव 3,550 से 3,600 रुपये प्रति क्विंटल हैं। केंद्र सरकार ने सोयाबीन का एमएसपी 3,710 रुपये प्रति क्विंटल तय किया हुआ है। राजस्थान की भरतपुर मंडी में सरसों के भाव 3,800 से 4,100 रुपये प्रति क्विंटल रहे, जबकि सरसों का एमएसपी रबी विपणन सीजन 2020-21 के लिए  सरकार ने 4,425 रुपये प्रति क्विंटल तय किया है। 

चालू तेल वर्ष में खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात 3.5 फीसदी बढ़ा

सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एसईए) के अनुसार अक्टूबर में खाद्य एवं अखाद्य तेलों का आयात 10 फीसदी बढ़कर 13,78,104 टन का हुआ है जबकि पिछले साल अक्टूबर में इनका आयात 12,56,433 टन का ही हुआ था। अक्टूबर में खाद्य तेलों का 13,31,926 टन खाद्य तेलों का एवं 46,178 टन अखाद्य तेलों का आयात हुआ है। चालू तेल वर्ष नवंबर-18 से अक्टूबर-19 के दौरान खाद्य एवं अखाद्य तेलों के आयात में 3.5 फीसदी की बढ़ोतरी होकर कुल आयात 155.49 लाख टन का हुआ है जबकि पिछले तेल वर्ष की समान अवधि में इनका आयात 150.26 लाख टन का हुआ था। चालू तेल वर्ष में खाद्य तेलों का आयात 149.13 लाख टन का हुआ है जबकि पिछले साल इनका आयात 145.16 लाख टन का हुआ था।

आरबीडी पामोलीन के भाव अक्टूबर में घटे, पॉम तेल के बढ़े

आरबीडी पामोलीन का भाव अक्टूबर में भारतीय बंदरगाह पर औसत 567 डॉलर प्रति रहा, जबकि अगस्त में इसका औसत भाव 571 डॉलर प्रति था। क्रुड पॉम तेल का भाव अगस्त में औसत 534 डॉलर प्रति टन था जबकि अक्टूबर में इसका औसत भाव 541 डॉलर प्रति टन हो गया। क्रुड सोया तेल का भाव अक्टूबर में औसत 722 डॉलर प्रति टन, क्रुड सनफ्लावर तेल का भाव 746 डॉलर प्रति टन और क्रुड सरसों तेल का भाव 787 डॉलर प्रति टन रहा।