Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल यूगांडा में टिड्डियों से निपटने के लिए सेना की मदद का निर्णय
यूगांडा में टिड्डियों से निपटने के लिए सेना की मदद का निर्णय
यूगांडा में टिड्डियों से निपटने के लिए सेना की मदद का निर्णय

यूगांडा में टिड्डियों से निपटने के लिए सेना की मदद का निर्णय

भारत ही नहीं अफ्रीकी देश यूगांडा में फसलों को खराब करने वाले टिड्डी दल का प्रकोप बढ़ता जा रहा है और इस समस्या से निपटने के लिए सेना की मदद लेने का निर्णय लिया गया है। वहीं संयुक्त राष्ट्र ने सोमवार को आगाह किया कि पहले से ही संवेदनशील इस क्षेत्र में हम दूसरा बड़ा झटका बर्दाश्त करने की हालत में नहीं हैं। भारत के गुजरात, राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के कई जिलों में पाकिस्तान से आए टिड्डी दल ने रबी फसलों को भारी नुकसान पहुंचाया है।

सरकार की ओर से जारी एक बयान के अनुसार यूगांडा में रविवार को टिड्डी दल देखे जाने के बाद सरकार ने एक आपात बैठक बुलाई और इसमें जमीन में कीटनाशक का छिड़काव करने के लिए सैन्य बलों की और हवा से कीटनाशक का छिड़काव करने के लिए दो विमानों की मदद लेने का निर्णय लिया गया है। संयुक्त राष्ट्र के अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि आने वाले समय में बारिश शुरू होने से पहले तत्काल कदम उठाए जाने की जरूरत है क्योंकि बारिश के बाद टिड्डी दल की संख्या बढ़ेगी और इसी के साथ उनका भोजन बनने वाली वनस्पतियां भी बढ़ेंगी।

टिड्डियों के सफाए के लिए तत्काल कदम उठाने की जरुरत

अधिकारियों का कहना है कि यदि इनके सफाए के लिए तत्काल कदम नहीं उठाए गए तो शुष्क मौसम की शुरुआत होने से पहले इनकी संख्या 500 गुना तक बढ़ सकती है। संयुक्त राष्ट्र के मानवीय मामलों के प्रमुख मार्क लोवकोक ने सोमवार को न्यूयॉर्क में संवाददताओं से कहा कि आपदा आने का खतरा है। उन्होंने कहा कि ऐसा क्षेत्र जहां एक करोड़ 20 लाख लोग पहले ही खाद्यान संकट का सामना कर रहे हैं वहां हम वहां दूसरा झटका बर्दाश्त करने की हालत में नहीं हैं।

एजेंसी इनपुट