Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल कपास का निर्यात तय लक्ष्य से 4 लाख गांठ कम रहने की आशंका
कपास का निर्यात तय लक्ष्य से 4 लाख गांठ कम रहने की आशंका
कपास का निर्यात तय लक्ष्य से 4 लाख गांठ कम रहने की आशंका

कपास का निर्यात तय लक्ष्य से 4 लाख गांठ कम रहने की आशंका

विश्व बाजार में कीमतें कम होने के कारण चालू फसल सीजन में कपास का निर्यात चार लाख गांठ कम रहने का अंदेशा है। इस साल लक्ष्य 50 लाख गांठ (एक गांठ-170 किलो) का है जबकि 46 लाख गांठ का ही निर्यात होने के आसार हैं।

काटन एडवाइजरी बोर्ड (सीएबी) ने पहली अक्टूबर 2018 से शुरू हुए चालू फसल सीजन में 50 लाख गांठ कपास के निर्यात का लक्ष्य तय किया था, जबकि 31 जुलाई तक 44.50 लाख गांठ का ही निर्यात हुआ है। सीएबी के अनुसार चालू सीजन में कुल निर्यात 46 लाख गांठ का ही होने का अनुमान है। विश्व बाजार में कपास सस्ती है, इसलिए चालू सीजन में कपास का आयात बढ़कर 31 लाख गांठ तक जा सकता है। चालू खरीफ में कपास के बुआई क्षेत्रफल में बढ़ोतरी हुई है तथा अभी तक मौसम भी फसल के अनुकूल है, इसलिए पहली अक्टूबर 2019 से शुरू होने वाले सीजन में कपास का उत्पादन पिछले साल से ज्यादा होने की उम्मीद है।

आयातित कपास है सस्ती

कपास की निर्यातक फर्म केसीटी एंड एसोसिएट के मैनेजिंग डायरेक्टर राकेश राठी ने बताया कि चालू खरीफ में कपास की बुआई में बढ़ोतरी हुई है, तथा मौसम भी फसल के अनुकूल है। अत: आगे भी मौसम ठीक रहा तो चालू सीजन में उत्पादन पिछले साल से ज्यादा ही होगा। उन्होंने बताया कि अहमदाबाद में गुरुवार को शंकर-6 किस्म की कपास का भाव 41,500 से42,000 रुपये प्रति कैंडी (एक कैंडी-356 किलो) रहा। ब्राजील से आयातित कपास के भाव भारतीय बंदरगाह पर 38,000 से 39,000 प्रति कैंडी हैं। घरेलू मंडियों में कपास की नई फसल की आवक सितंबर में बनेगी, तथा अक्टूबर-नवंबर में आवक बढ़ेगी जिससे मौजूदा कीमतों में मंदा तो आयेगा, लेकिन कॉटन कार्पोरेशन आफ इंडिया (सीसीआई) न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर खरीद कैसी करेगी, इस पर भी तेजी-मंदी निर्भर करेगी।

चालू सीजन में उत्पादन में आई कमी

कॉटन एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया (सीएआई) के अनुसार फसल सीजन 2018-19 में कपास का उत्पादन घटकर 312 लाख गांठ का हुआ है, जबकि इसके पिछले साल 365 लाख गांठ का उत्पादन हुआ था। जुलाई के अंत तक उत्पादक मंडियों में 305.52 लाख गांठ कपास की आवक हो चुकी है जो कुल उत्पादन का 98 फीसदी है। सीसीआई के पास इस समय कपास का करीब 9.5 से10 लाख गांठ का स्टॉक है। 

महाराष्ट्र में बुआई ज्यादा, गुजरात में कम

कृषि मंत्रालय के अनुसार चालू खरीफ में 118.73 लाख हेक्टयेर में कपास की बुआई कर हो चुकी है। पिछले साल इस समय तक केवल 112.60 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई थी। महाराष्ट्र में 39.69 लाख हेक्टेयर की तुलना में 42.81 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई है। हालांकि गुजरात में बुआई पिछले साल के 26.58 लाख हेक्टेयर से घटकर 24.69 लाख हेक्टेयर रह गई है। अन्य राज्यों में तेलंगाना में 17.24 लाख हेक्टयेर, आंध्रप्रदेश में 4.10 लाख हेक्टेयर, हरियाणा में 6.76 लाख हेक्टेयर, कर्नाटक में 4.46लाख हेक्टेयर, मध्य प्रदेश 6.10 लाख हेक्टयेर, पंजाब में 4.02 लाख हेक्टेयर और राजस्थान में 6.44 लाख हेक्टेयर में बुआई हुई है।