Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल छत्तीसगढ़ सरकार किसानों से 1,850 रुपये की दर से खरीदेगी धान : मुख्यमंत्री
छत्तीसगढ़ सरकार किसानों से 1,850 रुपये की दर से खरीदेगी धान : मुख्यमंत्री
छत्तीसगढ़ सरकार किसानों से 1,850 रुपये की दर से खरीदेगी धान : मुख्यमंत्री

छत्तीसगढ़ सरकार किसानों से 1,850 रुपये की दर से खरीदेगी धान : मुख्यमंत्री

छत्तीसगढ़ में धान की सरकारी खरीद पर मचे सियासी घमासान के बीच राज्य सरकार ने चालू खरीफ विपणन सीजन 2019-20 में किसानों से 1,850 रुपये प्रति क्विंटल की दर पर धान खरीदने का निर्णय लिया है।

मुख्यमंत्री ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने किसानों से धान की खरीद 2,500 रुपये प्रति क्विंटल की दर से करने का वादा किया था, लेकिन अब खरीद 1,850 रुपये प्रति क्विंटल की दर से की जायेगी तथा किसानों को इस राशि के अंतर का भुगतान कैसे करना है, इसका अध्ययन करने के लिए एक कैबिनेट समिति का गठन किया गया है। उन्होंने कहा कि बची हुई राशि का भुगतान बोनस के तौर पर किसानों को किया जाएगा।

राज्य से धान की सरकारी खरीद पहली दिसंबर से शुरू होनी है। मुख्यमंत्री ने कहां कि हमने किसानों से 2,500 रुपये मूल्य पर धान खरीदी किए जाने का वायदा किया है, इसे पूरा किया जाएगा। हालांकि केन्द्र सरकार के नीतिगत फैसले इस में आ रही अड़चनों को देखते हुए अंतर की राशि कैसे किसानों को दी जाएगी, इसके लिए एक कमेटी का गठन किया गया है। इस कमेटी में कृषि मंत्री रविंद्र चौबे, खाद्य मंत्री अमरजीत सिंह, सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम और उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल शामिल किए गए हैं।

मुख्यमंत्री का आरोप प्रधानमंत्री के पास जनता की समस्याओं के लिए समय नहीं

उन्होंने कहा कि धान किसानों को बोनस देने की रिपोर्ट पेश करने के लिए समिति को लगभग दो महीने लग सकते हैं। मुख्यमंत्री ने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था कि राज्य से धान की खरीद 2,500 रुपये प्रति क्विंटल की दर से खरीद करने की अनुमति दी जाए, साथ ही केंद्रीय पूल में राज्य का कोटा भी बढ़ाने की मांग की थी। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि पत्र लिखने के बावजूद भी प्रधानमंत्री ने उन्हें इस मुद्दे पर चर्चा करने के लिए समय नहीं दिया। उन्होंने कहा कि जब मैं पिछले बार केंद्रीय कृषि मंत्री से मिला था, तब उन्होंने मुझे प्रधानमंत्री से बात करने का आश्वासन दिया था, लेकिन प्रधानमंत्री मिलने का समय नहीं दे रहे हैं। हम क्या कर सकते हैं? उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री के पास जनता की समस्याओं के लिए समय नहीं है।

केंद्र सरकार ने 1,815-1,835 रुपये प्रति क्विंटल किया एमएसपी तय

केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने 24 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ को पत्र लिखकर कर सूचित किया था कि केंद्र उन राज्यों से धान या चावल की खरीद नहीं करेगा जो केंद्र सरकार द्वारा तय एमएसपी से अधिक मूल्य पर राज्य के किसानों से धान की खरीद करते हैं। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार किसानों से 2,500 रुपये प्रति क्विंटल की दर से धान की खरीद करती है, जो केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित कि गए समर्थन मूल्य से ज्यादा है। केन्द्र सरकार ने खरीफ विपणन सीजन 2109-20 के लिए धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 1,815-1,835 रुपये प्रति क्विंटल तय कर रखा है।