Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल ब्राजील, भारत से कर सकता है गेहूं, चावल और बाजरा का आयात
ब्राजील, भारत से कर सकता है गेहूं, चावल और बाजरा का आयात
ब्राजील, भारत से कर सकता है गेहूं, चावल और बाजरा का आयात

ब्राजील, भारत से कर सकता है गेहूं, चावल और बाजरा का आयात

ब्राजील ने भारत से गेहूं, चावल, बाजरा और ज्वार का आयात करने की इच्छा जताई है। दोनों देशों के कृषि मंत्रियों की बैठक के बाद जारी आधिकारिक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई। केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान से भी एथेनॉल प्रौद्योगिकी पर की बातचीत

कृषि मंत्रालय के बयान के अनुसार कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने ब्राजील की कृषि, पशुधन और खाद्य आपूर्ति मंत्री तेरेजा क्रिस्टीन कोरिया डा कोस्टा डायस के साथ बैठक में विभिन्न द्विपक्षीय व्यापार अवसरों और अन्य मुद्दों पर चर्चा की। दोनों मंत्रियों ने कहा कि कृषि भारत और ब्राजील के लिये प्राथमिकता वाला क्षेत्र है और उन्होंने कृषि एवं संबद्ध क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने का संकल्प जताया।

डायस ने कहा कि दोनों देशों में एक जैसी चुनौती है। आबादी का बड़ा हिस्सा कृषि से जुड़ा है और उसमें से ज्यादातर छोटे एवं सीमांत किसान हैं। उनकी आय कम है और बाजार पहुंच नहीं हैं। साथ ही नई प्रौद्योगिकी तथा नवप्रवर्तन तक पहुंच भी काफी कम है। बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि बाधाओं को दूर करने से दोनों देशों के व्यापार और व्यापारिक रिश्तों में मजबूती आएगी।

दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार 1.045 अरब डॉलर का

बयान में ब्राजील की कृषि मंत्री के हवाले से कहा गया है कि गेहूं, चावल, बाजरा और ज्वार ऐसे कुछ उत्पाद हैं जो भारत, ब्राजील को निर्यात करना चाहेगा। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार 1.045 अरब डॉलर का है और यह क्षमता से कहीं कम है। उन्होंने कहा कि दोनों देश एक-दूसरे की जरूरतों को पूरा कर सकते हैं और इस लिहाज से व्यापार को प्रोत्साहित करने की जरूरत है। ब्राजील प्याज, अंगूर, गेहूं, मक्का, चावल, सोयाबीन और कपास का आयात विभिन्न देशों से करता है। केंद्रीय कृषि मंत्री ने ब्राजील से इन सभी कृषि उत्पादों का आयात भारत से करने पर विचार करने का आग्रह किया।

चीनी और एथेनॉल प्रौद्योगिकी की साझेदारी पर पासवान से की बातचीत

ब्राजील के प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान से भी मुलाकात कर दोनों देशों के बीची चीनी और एथेनॉल प्रौद्योगिकी की साझेदारी समेत अन्य मुद्दों पर बातचीत की। मुलाकात के बाद संवाददादाताओं से बातचीत में पासवान ने कहा कि ब्राजील की कृषि, पशुधन और आपूर्ति मंत्री टेरेजा क्रिस्टीना के साथ आए विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के प्रतिनिधिमंडल के साथ दोनों देशों के उद्योग और प्रौद्योगिकी के बीच आदान-प्रदान को लेकर बातचीत हुई। भारत दुनिया में चीनी का सबसे बड़ा उत्पादक है, जबकि ब्राजील दूसरा सबसे बड़ा चीनी उत्पादक देश है। ब्राजील दो साल पहले तक चीनी का सबसे बड़ा उत्पादक था, लेकिन अब ब्राजील चीनी के बदले एथेनॉल के उत्पादन को प्रमुखता दे रहा है।

एजेंसी इनपुट