Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में एग्री उत्पादों का निर्यात 10.60 फीसदी घटा
चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में एग्री उत्पादों का निर्यात 10.60 फीसदी घटा
चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में एग्री उत्पादों का निर्यात 10.60 फीसदी घटा

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में एग्री उत्पादों का निर्यात 10.60 फीसदी घटा

किसानों की आय बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार एग्री उत्पादों का निर्यात बढ़ाना चाह रही है, लेकिन एग्री उत्पादों का निर्यात बढ़ने के बजाए उल्टा घट रहा है। चालू वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही अप्रैल से जून के दौरान एग्री उत्पादों के निर्यात में 10.60 फीसदी की कमी आकर कुल निर्यात 28,910 करोड़ रुपये का ही हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इनका निर्यात 32,341 करोड़ रुपये का हुआ था।

एपीडा के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में गैर-बासमती चावल के निर्यात में 43.51 फीसदी की गिरावट आकर कुल निर्यात 11.94 लाख टन का ही हुआ है जबकि इसके पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 21 लाख टन गैर-बासमती चावल का निर्यात हुआ था। बासमती चावल का निर्यात इस दौरान 1.79 फीसदी घटकर 11.56 लाख टन का ही हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में बासमती चावल का 11.73 लाख टन का निर्यात हुआ था। मूल्य के हिसाब से चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में गैर-बासमती चावल का निर्यात 3,379 करोड़ रुपये और बासमती चावल का 8,728 करोड़ रुपये का हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इनका निर्यात क्रमश: 5,982 और 8,610 करोड़ रुपये का हुआ था।

बीफ के निर्यात में आई कमी, ग्वार गम का भी उत्पादन भी कम

बीफ का निर्यात चालू वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में घटकर 2,75,398 टन का 5,467 करोड़ रुपये का ही हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इसका निर्यात 2,76,450 टन का 5,636 करोड़ रुपये का हुआ था। ग्वार गम उत्पादों का निर्यात पिछले वित्त वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही अप्रैल से जून के 1,35,210 टन से घटकर चालू वित्त वर्ष में 1,27,700 टन का ही हुआ है। मूल्य के हिसाब से इनका निर्यात पिछले वित्त वर्ष के 1,239 करोड़ रुपये से घटकर 1,142 करोड़ रुपये का ही हुआ था।

फलों के निर्यात में सुधार, सब्जियों का घटा

ताजे फलों के निर्यात में जरुर चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में सुधार हुआ है, लेकिन सब्जियों के निर्यात में कमी आई है। अप्रैल से जून 2019-20 के दौरान ताजे फलों का निर्यात मात्रा में 1,99,376 टन का 1,337 करोड़ रुपये का हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इनका निर्यात 1,87,246 टन का 1,376 करोड़ रुपये का हुआ था। सब्जियों का निर्यात चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 6,67,249 टन का 1,270 करोड़ रुपये मूल्य का हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इनका निर्यात 7,76,094 टन का 1,337 करोड़ रुपये का हुआ था।

दालों के साथ डेयरी उत्पादों का निर्यात रहा कम

दालों का निर्यात भी चालू वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में घटकर 45,344 टन का 289 करोड़ रुपये का ही हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इनका निर्यात 1,01,678 टन का 629 करोड़ रुपये मूल्य का हुआ था। प्रोसेसस सब्जियों का निर्यात जरुरत चालू वित्त वर्ष के पहले तीन महीनों में बढ़कर 54,001 टन का 506 करोड़ रुपये मूल्य का हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इनका निर्यात 50,694 टन का 436 करोड़ रुपये मूल्य का हुआ था। डेयरी उत्पादों का निर्यात चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में घटकर 33,911 टन का ही हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इनका निर्यात 35,698 टन का हुआ था।