Home एग्रीकल्चर इंटरनेशनल डीओसी के निर्यात में 78 फीसदी की आई भारी गिरावट, विश्व बाजार में दाम कम
डीओसी के निर्यात में 78 फीसदी की आई भारी गिरावट, विश्व बाजार में दाम कम
डीओसी के निर्यात में 78 फीसदी की आई भारी गिरावट, विश्व बाजार में दाम कम

डीओसी के निर्यात में 78 फीसदी की आई भारी गिरावट, विश्व बाजार में दाम कम

विश्व बाजार में कीमतें कम होने के कारण मई में डीओसी के निर्यात में 78 फीसदी की भारी गिरावट आकर कुल निर्यात 58,549 टन का ही हुआ है जबकि पिछले साल मई में इनका निर्यात 2,63,644 टन का निर्यात हुआ था। चालू वित्त वर्ष 2019-20 के पहले दो महीनों अप्रैल से मई के दौरान डीओसी के निर्यात में 36 फीसदी की कमी आकर कुल निर्यात 3,13,134 टन का ही हुआ है जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में इनका निर्यात 4,87,995 टन का निर्यात हुआ था।

सोया तथा सरसों डीओसी निर्यात कम

साल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एसईए) के अनुसार विश्व बाजार में सोया डीओसी के साथ ही सरसों डीओसी की कीमतें नीचे बनी हुई हैं, जिस कारण हमारे यहां से निर्यात पड़ते नहीं लग रहे हैं। अप्रैल के मुकाबले मई में सोया डीओसी के साथ ही सरसों डीओसी, राइसब्रान और केस्टर डीओसी के निर्यात में भा गिरावट आई है। अप्रैल में सोया डीओसी का निर्यात 40,829 टन का हुआ था जोकि मई में घटकर 18,470 टन का ही रह गया। सरसों डीओसी का निर्यात अप्रैल में 1,20,630 टन का हुआ था जोकि मई में घटकर 19,519 टन का ही रह गया।

राइब्रान और केस्टर डीओसी का निर्यात भी घटा

एसईए के अनुसार मई में राइब्रसान डीओसी का निर्यात घटकर 4,200 टन का ही हुआ है जबकि अप्रैल में 26,750 टन का निर्यात हुआ था। केस्टर खली का निर्यात भी अप्रैल के 66,285 टन से घटकर 16,360 टन का ही हुआ है।

भाव में आई कमी

सोया डीओसी के भाव भारतीय बंदरगाह पर घटकर मई में 447 डॉलर प्रति टन रह गया जबकि अप्रैल में इसका भाव 460 डॉलर प्रति टन था। सरसों डीओसी का भाव इस दौरान 220 डॉलर प्रति टन से घटकर 218 डॉलर प्रति टन रह गया। हालांकि केस्टर डीओसी के भाव इस दौरान 77 डॉलर प्रति टन से बढ़कर 101 डॉलर प्रति टन रह गए।