Home एग्रीकल्चर एग्री ट्रेड आरईसीपी समझौता किसानों के हितों को निगल जाएगा: प्रियंका
आरईसीपी समझौता किसानों के हितों को निगल जाएगा: प्रियंका
आरईसीपी समझौता किसानों के हितों को निगल जाएगा: प्रियंका

आरईसीपी समझौता किसानों के हितों को निगल जाएगा: प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने प्रस्तावित रीजनल कंप्रिहेंसिव इकोनॉमिक पार्टनरशिप (आरईसीपी) मुक्त व्यापार समझौते को लेकर शनिवार को सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि यह किसानों के सारे हितों को निगल जाएगा।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि देश में आर्थिक मंदी है। हमारा बाजार हमारे किसानों की ज्यादा मदद करे अभी ये हमारी नीति होनी चाहिए। उस माहौल में आरईसीपी किसान सत्यानाश समझौता साबित होगा। प्रियंका ने आरोप लगाया कि ये भारत के किसानों के सारे हितों को निगल जाएगा और उनके उत्पाद बेचने की जगह सीमित हो जाएगी।

आरईसीपी की तीसरी शिखर बैठक चार नवंबर को

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शनिवार को तीन दिन की यात्रा पर बैंकाक पहुंचे। प्रधानमंत्री मोदी यहां 16वें आसियान- भारत शिखर सम्मेलन, 14वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन और क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी (आरईसीपी) की तीसरी शिखर बैठक में भाग लेंगे। उनकी यह यात्रा ऐसे समय हो रही है, जब एशिया प्रशांत क्षेत्र के 16 देशों के बीच एक वृहद व्यापार समझौते को लेकर बातचीत चल रही है और भारत को इस समझौते पर हस्ताक्षर करने के लिये मनाने के वास्ते नये सिरे से राजनयिक प्रयास तेज हुए हैं।

युवा कांग्रेस ने इस समझौते के खिलाफ गिरिराज सिंह के आवास पर किया प्रदर्शन

एशिया प्रशांत क्षेत्र के 16 देशों का यह व्यापार समझौता यदि होता है तो यह दुनिया में सबसे बड़ा मुक्त व्यापार क्षेत्र होगा। आरईसीपी समझौते के खिलाफ दिल्ली में केंद्रीय पशुपालन और डेयरी मंत्री गिरिराज सिंह के आवास पर युवा कांग्रेस के नेताओं ने शनिवार को प्रदर्शन कर भाजपा सरकार से इस समझौते से दूध व दूध के उत्पाद को बाहर रखने की मांग की।

एजेंसी इनपुट