Home एग्रीकल्चर एग्री ट्रेड समर्थन मूल्य पर धान बेचने पर ओडिशा के किसानों को 588 रुपये का नुकसान
समर्थन मूल्य पर धान बेचने पर ओडिशा के किसानों को 588 रुपये का नुकसान
समर्थन मूल्य पर धान बेचने पर ओडिशा के किसानों को 588 रुपये का नुकसान

समर्थन मूल्य पर धान बेचने पर ओडिशा के किसानों को 588 रुपये का नुकसान

न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर धान बेचने पर ओडिशा के किसानों को 588 रुपये प्रति क्विंटल का नुकसान उठाना पड़ता है। राज्य में धान के उत्पादन की लागत 2,403 रुपये प्रति क्विंटल है जबकि केंद्र सरकार ने धान का एमएसपी 1,815 रुपये प्रति क्विंटल तय किया हुआ है।

ओडिशा के कृषि मंत्री अरुण कुमार साहू ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि 2018-19 फसल सीजन के लिए राज्य के किसानों की धान पर उत्पादन लागत 2,403 रुपये प्रति क्विंटल आई है जबकि केंद्र सरकार ने धान का एमएसपी केवल 1,815 रुपये प्रति क्विंटल ही तय किया हुआ है इन भाव में बेचने पर किसानों को 588 रुपये प्रति क्विंटल का घाटा लग रहा है।

राज्यवार फसलों के एमएसपी तय करने की मांग

उन्होंने कहा कि कृषि लागत एवं मूल्य आयोग (सीएसीपी) और कृषि मंत्रालय को फसलों के एमएसपी लागत के आधार पर राज्यवार तय करने चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएसीपी ने ओडिशा में खरीफ सीजन 2018-19 में धान की प्रति क्विंटल उत्पादन लागत 1,713 रुपये प्रति क्विंटल आंकी थी जबकि महाराष्ट्र में इसकी उत्पादन लागत 2,418 रुपये प्रति क्विंटल आंकी गई थी।

राज्य ने 2,930 रुपये एमएसपी तय करने का दिया था प्रस्ताव

उन्होंने बताया कि विधानसभा ने सवर्ससम्मति से केंद्र सरकार को खरीफ सीजन के लिए धान का एमएसपी 2,930 रुपये प्रति क्विंटल तय करने का प्रस्ताव दिया था लेकिन केंद्र सरकार ने धान का एमएसपी आगामी खरीफ विपणन सीजन के लिए 1,815 रुपये प्रति क्विंटल ही तय किया है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार धान की उत्पादन लागत में कमी लाने के लगातार प्रयास कर रही है। इसके तहत राज्य के किसानों को रियायती मूल्य पर बेहतर गुणवत्ता वाले बीजों की आपूर्ति के साथ ही मिट्टी स्वास्थ्य परीक्षण और अधिक अनाज उगाने के लिए तकनीकी सहायता एवं अन्य शामिल हैं।

एजेंसी इनपुट