Home एग्रीकल्चर एग्री ट्रेड एनडीडीबी ने वित्त मंत्री से डेयरी उत्पादों पर करों को युक्तिसंगत बनाने का अनुरोध किया
एनडीडीबी ने वित्त मंत्री से डेयरी उत्पादों पर करों को युक्तिसंगत बनाने का अनुरोध किया
एनडीडीबी ने वित्त मंत्री से डेयरी उत्पादों पर करों को युक्तिसंगत बनाने का अनुरोध किया

एनडीडीबी ने वित्त मंत्री से डेयरी उत्पादों पर करों को युक्तिसंगत बनाने का अनुरोध किया

राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी) ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से डेयरी उत्पादों घटी और अलग-अलग स्वाद में दूध आदि पर प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों को तर्कसंगत करने के साथ ही वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की दर को कम करने की मांग की है।

मंगलवार को नई दिल्ली में कृषि और ग्रामीण विकास के हितधारक समूहों के साथ बजट-पूर्व चर्चा के लिए केंद्रीय वित्त मंत्री द्वारा बुलाई गई एक बैठक में एनडीडीबी के अध्यक्ष दिलीप रथ ने आयात दरों में कटौती के अलावा जीएसटी की दरों में कमी करने करने की मांग की।

डेयरी किसानों और दुग्ध उत्पादकों की आय को आयकर मुक्त करने की मांग

एनडीडीबी द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि रथ ने वित्त मंत्रालय को निर्यात प्रोत्साहन बढ़ाने के साथ-साथ डेयरी किसानों और दुग्ध उत्पादकों की आय को आयकर से मुक्त करने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि जापान अंतर्राष्ट्रीय सहयोग एजेंसी (जेआईसीए) और विश्व बैंक की सहायता से नई डेयरी विकास योजनाओं की शुरुआत करते हुए, डीआईडीएफ योजना पर ब्याज में सुधार को भी बढ़ाया जाना चाहिए।

राष्ट्रीय स्कूल दूध कार्यक्रम शुरू करने का सुझाव

एनडीडीबी के अध्यक्ष ने राष्ट्रीय स्कूल दूध कार्यक्रम शुरू करने का भी सुझाव दिया। बैठक में केंद्रीय वित्त और कॉरपोरेट मामलों के राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और वित्त, व्यय, राजस्व, कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास, मत्स्य पालन विभाग के सचिव और अन्य लोग भी बैठक में उपस्थित थे।