Home एग्रीकल्चर एग्री ट्रेड मुजफ्फरनगर की चीनी मिलें किसानों के बकाए का 31 अगस्त तक करें भुगतान-जिलाधिकारी
मुजफ्फरनगर की चीनी मिलें किसानों के बकाए का 31 अगस्त तक करें भुगतान-जिलाधिकारी
मुजफ्फरनगर की चीनी मिलें किसानों के बकाए का 31 अगस्त तक करें भुगतान-जिलाधिकारी

मुजफ्फरनगर की चीनी मिलें किसानों के बकाए का 31 अगस्त तक करें भुगतान-जिलाधिकारी

मुजफ्फरनगर की चीनी मिलें किसानों के बकाए का 31 अगस्त तक पूरा भुगतान करें, नहीं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने मंगलवार शाम वरिष्ठ अधिकारियों के साथ गन्ना किसानों के बकाया भुगतान की समीक्षा की।

चीनी मिलों के प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक में जिलाधिकारी ने पेराई सीजन 2018-19 के बकाया भुगतान को 31 अगस्त तक करने के निर्देश दिए। उन्होंने चीनी मिल प्रतिनिधियों को कड़े निर्देश दिए कि बकाया गन्ना मूल्य भुगतान में कोई हीलाहवाली नहीं होगी। 31 अगस्त तक समस्त भुगतान नहीं करने वाली मिलें कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

जिले की मिलों पर 812.20 करोड़ रुपये है बकाया

मुजफ्फरनगर की चीनी मिलों ने चालू पेराई सीजन 2018-19 का अभी 2,191.45 करोड़ रुपये का भुगतान ही किया है जबकि अभी किसानों का मिलों पर 812.20 करोड़ रुपये बकाया है। जिला गन्ना अधिकारी डॉ. आरडी द्विवेदी ने समीक्षा बैठक में अवगत कराया कि टिकौला शुगर मिल ने 387.33 करो़ड़ रुपये, मोरना शुगर मिल ने 141.01 करोड़ रुपये, तितावी शुगर मिल ने 332.67 करोड़ रुपये, खतौली शुगर मिल ने 563.12 करोड़, मंसूरपुर मिल ने 364.96 करोड़, रोहाना मिल ने 67.10 करोड़, खाईखेड़ी मिल ने 126.73 करोड़ तथा भैंसाना मिल ने 208.53 करोड़ रुपये का भुगतान किया है।

पेराई बंद हुए हो चुका है महीनाभर

मुजफ्फरनगर की चीनी मिलों में गन्ने की पेराई बंद हुए करीब महीनाभर होने को है, जबकि तय नियमों के अनुसार चीनी मिलों को गन्ना खरीने के 14 दिनों के अंदर किसानों के बकाया का भुगतान करना जरुरी है। 14 दिनों तक भुगतान नहीं करने वाले चीनी मिलों को किसानों को 15 फीसदी ब्याज देना होता है।

एजेंसी इनपुट