Home एग्रीकल्चर एग्री ट्रेड सोनीपत के सेरसा गांव में बनेगी मसाला मंडी, 50 हजार लोगों को रोजगार का दावा
सोनीपत के सेरसा गांव में बनेगी मसाला मंडी, 50 हजार लोगों को रोजगार का दावा
सोनीपत के सेरसा गांव में बनेगी मसाला मंडी, 50 हजार लोगों को रोजगार का दावा

सोनीपत के सेरसा गांव में बनेगी मसाला मंडी, 50 हजार लोगों को रोजगार का दावा

हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जय प्रकाश दलाल ने कहा कि सोनीपत के सेरसा गांव में मसाला मंडी बनाने की योजना को राज्य सरकार ने मंजूर कर दिया है और इस मंडी के बनने से एक ओर जहां क्षेत्र का विकास होगा वहीं दूसरी ओर लगभग 50 हजार लोगों को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे।

कृषि मंत्री ने कहा कि दिल्ली की खारी बावली मसाला मंडी में फिलहाल 40 हजार करोड़ रुपये का कारोबार होता है और सेरसा गांव में मंडी आने के बाद यह पूरा व्यापार यहां शिफ्ट हो जाएगा। सरकार को राजस्व का लाभ होगा और इससे आसपास के करीब 50 हजार लोगों को रोजगार भी मिलेगा। दलाल ने कहा कि यह जगह कुंडली-मानेसर-पलवल व कुंडली-गाजियाबाद-पलवल के नजदीक होने से व्यापारियों को परिवहन के लिए समस्या नहीं आयेगी, तथा व्यापारी यहां से देश में कहीं भी माल भेज सकते हैं। हाल ही में दिल्ली की प्रसिद्ध खाड़ी बावली मसाला मार्किट के व्यापारियों ने प्रधान राजन गुप्ता के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने कृषि मंत्री से इस बारे में मुलाकात की थी।

राज्य के किसानों को फल-फूल व सब्जियों के साथ मत्स्य पालन

उन्होंने कहा कि गन्नौर की इंडिया इंटरनेशनल हार्टिकल्चर मार्केट जल्द ही अपने पूरे स्वरूप में होगी। उन्होंने कहा कि हम प्रदेश के किसानों को फल-फूल व सब्जी के साथ-साथ मत्स्य पालन के लिए भी प्रेरित कर रहे हैं। इसके लिए सबसे जरूरी मंडियों की व्यवस्था कर रहे हैं ताकि किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य मिल सके। किसान खुशहाल होगा तो देश खुशहाल होगा की नीति पर चलते हुए हम ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के लिए नीतियां बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह किसानों के कौशल विकास के लिए अच्छे प्रशिक्षण कोर्स तैयार करें। किसानों व उनके बच्चों को अच्छा प्रशिक्षण मिलेगा तो वह बागवानी, मत्स्य व मशरूम जैसे कार्यों से अपनी आय बढ़ा सकते हैं और विदेशों में भी जा सकते हैं। युवाओं को कृषि, बागवानी व पशुपालन जैसे व्यवसायों के लिए लोन देने में भी मदद की जाएगी।

एजेंसी इनपुट