Home एग्रीकल्चर एग्री ट्रेड गुजरात में कपास के साथ ही अन्य फसलों के उत्पादन में भारी गिरावट का अनुमान
गुजरात में कपास के साथ ही अन्य फसलों के उत्पादन में भारी गिरावट का अनुमान
गुजरात में कपास के साथ ही अन्य फसलों के उत्पादन में भारी गिरावट का अनुमान

गुजरात में कपास के साथ ही अन्य फसलों के उत्पादन में भारी गिरावट का अनुमान

गुजरात के कई जिलों में मानसूनी बारिश कम होने से सूखे जैसे हालात बने हुए हैं जिससे राज्य के किसानों पर दोहरी मार पड़ी है। सूखे से खरीफ फसलों की प्रति हेक्टेयर उत्पादकता में भारी कमी आई, साथ ही रबी फसलों के उत्पादन में भी गिरावट आने का अनुमान है। चालू फसल सीजन 2018-19 में राज्य में कपास के उत्पादन में जहां 48.95 फीसदी की भारी गिरावट आने की आशंका है, वहीं खरीफ में मूंगफली का उत्पादन 50.50 फीसदी घटने का अनुमान है। राज्य के कृषि निदेशालय द्वारा जारी दूसरे अग्रिम अनुमान के अनुसार अन्य फसलों की पैदावार में भी कमी आयेगी।

चालू फसल सीजन 2018-19 में राज्य में कपास का उत्पादन घटकर 52 लाख गांठ (एक गांठ-170 किलोग्राम) ही होने का अनुमान है जबकि पिछले फसल सीजन में राज्य में 101.87 लाख गांठ कपास का उत्पादन हुआ था। राज्य के कई जिलों में सूखे जैसे हालात बनने के कारण प्रति हेक्टेयर कपास की उत्पादकता चालू सीजन में 326 किलोग्राम ही आने का अनुमान है जबकि पिछले साल राज्य में 660 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर उत्पादकता आई थी।

खरीफ में मूंगफली उत्पादन आधे से कम

राज्य के कृषि निदेशालय के अनुसार खरीफ मूंगफली का उत्पादन घटकर चालू सीजन में 19.48 लाख टन ही होने का अनुमान है जबकि पिछले साल राज्य में 39.36 लाख टन मूंगफली का उत्पादन हुआ था। केस्टर सीड का उत्पादन चालू फसल सीजन में घटकर 10.43 लाख टन ही होने का अनुमान है जबकि पिछले साल राज्य में 14.84 लाख टन का उत्पादन हुआ था। सरसों का उत्पादन राज्य में पिछले साल के 4 लाख टन से घटकर 3.17 लाख टन होने का अनुमान है। हालांकि सोयाबीन का उत्पादन जरुर पिछले साल के 1.15 लाख टन से बढ़कर 1.70 लाख टन होने का अनुमान है। दूसरे आरंभिक अनुमान के अनुसार तिलहन का कुल उत्पादन घटकर 35.12 लाख टन ही होने का अनुमान है जबकि पिछले साल राज्य में 60.10 लाख टन का उत्पादन हुआ था।

दलहन उत्पादन अनुमान में कमी

दलहनी फसलों का उत्पादन चालू फसल सीजन 2018-19 में घटकर राज्य में 7.06 लाख टन ही होने का अनुमान है जबकि पिछले 9.25 लाख टन दालों का उत्पादन हुआ था। अरहर का उत्पादन राज्य में घटकर 3.25 लाख टन और चना का उत्पादन 2.81 लाख टन ही होने का अनुमान है जबकि पिछले साल राज्य में इनका उत्पादन क्रमश: 3.37 और 3.67 लाख टन का हुआ था।

गेहूं, चावल का उत्पादन घटेगा

गेहूं का उत्पादन राज्य में घटकर 24.20 लाख टन और चावल का 18.34 लाख टन होने का अनुमान है जबकि पिछले साल इनका उत्पादन क्रमश: 31.02 और 20.39 लाख टन का उत्पादन हुआ था। मक्का का उत्पादन जरुर पिछले साल के 6.69 लाख टन से बढ़कर 7.19 लाख टन होने का अनुमान है लेकिन बाजरा का उत्पादन पिछले साल के 9.18 लाख टन से घटकर केवल 2.10 लाख टन ही होने का अनुमान है।

प्याज और आलू का उत्पादन कम

राज्य में प्याज का उत्पादन घटकर चालू सीजन में 6.19 लाख टन और आलू का उत्पादन 33.50 लाख टन ही होने का अनुमान है जबकि पिछले साल 15.63 लाख टन प्याज और 37.53 लाख टन आलू का उत्पादन हुआ था। जीरा का उत्पादन भी चालू सीजन में घटकर 2.23 लाख टन ही होने का अनुमान है।