Foodgrains record production of 27.95 crore tonnes, fears of pressure on prices : Outlook Hindi

Home » एग्रीकल्चर » एग्री ट्रेड » खाद्यान्न का रिकार्ड 27.95 करोड़ टन उत्पादन का अनुमान, कीमतों पर दबाव बनने की आशंका

खाद्यान्न का रिकार्ड 27.95 करोड़ टन उत्पादन का अनुमान, कीमतों पर दबाव बनने की आशंका

MAY 16 , 2018

चालू फसल सीजन 2017-18 में देश में खाद्यान्न का रिकार्ड 27.95 करोड़ टन उत्पादन होने का अनुमान है जबकि फसल सीजन 2016-17 में इनका उत्पादन 27.51 करोड़ टन का ही हुआ था। इस दौरान जहां चावल, गेहूं और दलहन की रिकार्ड पैदावार होने का अनुमान है, वहीं तिलहनों की पैदावार में कमी आने का अनुमान है। रिकार्ड उत्पादन अनुमान से जिंसों की कीमतों पर और दबाव बनने की संभावना हैं

दलहन, तिलहन और मोटे अनाजों के भाव समर्थन मूल्य से नीचे 

उत्पादक मंडियों में दलहनी फसलें चना, उड़द, मूंग, अरहर तथा मसूर समर्थन मूल्य से नीचे बिक रही हैं। इसके अलावा मोटे अनाजों में मक्का, बाजरा और जौ तथा तिलहनी फसलों में सरसों और मूंगफली भी किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से नीचे बेचनी पड़ रही है, ऐसे में उत्पादन अनुमान में बढ़ोतरी से इनकी कीमतों में और नरमी आने का अनुमान है।

चावल, गेहूं का रिकार्ड उत्पादन अनुमान

कृषि मंत्रालय द्वारा जारी तीसरे आरंभिक अनुमान के अनुसार मानसूनी बारिश अच्छी होने से देश में चावल, गेहूं और दलहन के साथ ही मक्का का भी रिकार्ड उत्पादन होने का अनुमान है। फसल सीजन 2017-18 में चावल का उत्पादन बढ़कर 11.52 करोड़ टन होने का अनुमान है जबकि पिछले साल चावल का 10.97 करोड़ टन का उत्पादन हुआ था। दूसरे आरंभिक अनुमान में सरकार ने 11.10 करोड़ टन चावल के उत्पादन का अनुमान लगाया था। तीसरे आरंभिक अनुमान के अनुसार गेहूं का भी रिकार्ड उत्पादन 986.1 लाख टन होने का अनुमान है जबकि कृषि मंत्रालय ने दूसरे आरंभिक अनुमान में इसके उत्पादन का अनुमान 971.1 लाख टन का लगाया था। फसल सीजन 2016-17 में गेहूं का 985.1 लाख टन का उत्पादन हुआ था।

चना और उड़द का उत्पादन अनुमान ज्यादा

तीसरे आरंभिक अनुमान के अनुसार दलहन का उत्पादन 2017-18 में रिकार्ड 245.1 लाख टन होने का अनुमान है जबकि पिछले साल 2016-17 में इनका उत्पादन 231.3 लाख टन का ही उत्पादन हुआ था। कृषि मंत्रालय ने दूसरे आरंभिक अनुमान में दालों के 239.5 लाख टन के उत्पादन का अनुमान लगाया था। दलहन की प्रमुख फसल चना के साथ ही उड़द का फसल सीजन 2017-18 में रिकार्ड उत्पादन क्रमश: 111.6 और 32.8 लाख टन होने का अनुमान है। अरहर का उत्पादन इस दौरान 41.8 लाख टन होने का अनुमान है।

तिलहनी फसलों की पैदावार घटने का अनुमान

तिलहनों का उत्पादन फसल सीजन 2017-18 में घटकर 306.4 लाख टन ही होने का अनुमान है जबकि इसके पिछले साल 2016-17 में तिलहनों का 312.8 लाख टन का उत्पादन हुआ था। तिलहनों की प्रमुख फसल सोयाबीन का उत्पादन 109.3 लाख टन, मूंगफली 89.4 लाख टन और सरसों का उत्पादन 80.4 लाख टन होने का अनुमान है। इसके अलावा केस्टर सीड का उत्पादन 14.9 लाख टन होने का अनुमान है।

मक्का के रिकार्ड उत्पादन का अनुमान

मोटे अनाजों में मक्का, जौ और बाजरा तथा रागी का उत्पादन तीसरे आरंभिक अनुमान के अनुसार फसल सीजन 2017-18 में रिकार्ड 448.7 लाख टन होने का अनुमान है जबकि पिछले साल इनका उत्पादन 437.7 लाख टन का ही हुआ था। मोटे अनाजों में मक्का का उत्पादन इस दौरान बढ़कर 268.8 लाख टन होने का अनुमान है।

कपास और गन्ने की पैदावार ज्यादा

मंत्रालय द्वारा जारी तीसरे आरंभिक अनुमान के अनुसार फसल सीजन 2017-18 में कपास का उत्पादन 348.6 लाख गांठ (एक गांठ-170 किलो) होने का अनुमान है जबकि पिछले साल 325.77 लाख गांठ का ही उत्पादन हुआ था। गन्ने का उत्पादन चालू फसल सीजन 2017-18 में बढ़कर 3,551 लाख टन होने का अनुमान है जबकि इसके पिछले साल इसका उत्पादन 3,060.69 लाख टन का ही हुआ था।


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.