Home एग्रीकल्चर एग्री ट्रेड साझी खेती करके किसान खेतों से ज्यादा पैदावार लें-रुपाला
साझी खेती करके किसान खेतों से ज्यादा पैदावार लें-रुपाला
साझी खेती करके किसान खेतों से ज्यादा पैदावार लें-रुपाला

साझी खेती करके किसान खेतों से ज्यादा पैदावार लें-रुपाला

छोटी होती जा रही जोत पर चिंता व्यक्त करते हुए केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरषोत्तम रुपाला ने कहा कि गैर-सरकारी संगठनों या फिर सहकारिता समितियों के माध्यम से किसान साझी खेती करके बढ़ती आबादी की जरुरतों को पूरा कर सकते हैं।

गैर-सरकारी संगठनों के परिसंघ तथा कई अन्य संस्थाओं की ओर से कृषि पर आयोजित एक प्रोग्राम में उन्होंने कहा कि परिवारों में बंटवारों के कारण खेत का आकार छोटा होता जा रहा है, तथा देश में 90 फीसदी छोटे एवं सीमांत किसान रह गए हैं। खेत का आकार छोटा होने के कारण मशीनों का पूरा उपयोग नहीं हो पाता है, जिस कारण किसानों को उससे पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है।

उन्होंने कहा गैर-सरकारी संगठन और सरकारिता समितियां गांव के किसानों से साझी खेती करवा सकती है जिससे भरपूर पैदावार ली जा सके। इसके लिए एक मॉडल तैयार किए जाने की जरुरत है। उन्होंने बताया कि काफी पहले गुजरात के एक गांव में साझी खेती का प्रयोग किया गया था, तथा वह काफी सफल भी रहा था लेकिन उसके नेता के निधन के बाद वह बंद हो गया।

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री ने कहा कि सरकार की और से योजनाओं के क्रियान्यवन में कई बार काफी देरी हो जाती है। कई बार तो परिपत्रों को जिला स्तर पर पहुंचने में तीन साल तक का समय लग जाता है। उन्होंने सुझाव दिया कि गैर-सरकारी संगठनों को कृषि मंत्रालय की एक योजना को अपने हाथ में लेना चाहिए।