Home एग्रीकल्चर एग्री बिजनेस लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिए परिवहन कॉल सेंटर शुरु
लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिए परिवहन कॉल सेंटर शुरु
लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिए परिवहन कॉल सेंटर शुरु

लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई के लिए परिवहन कॉल सेंटर शुरु

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कोरोना वायरस के कारण देशभर में चल रहे लॉकडाउन के कारण जल्दी खराब होने वाले कृषि उत्पादों के परिवहन को सुगम बनाने के लिए आज अखिल भारतीय परिवहन कॉल सेंटर की शुरुआत की।

कॉल सेंटर पर 18001804200 और 14488 नंबरों पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य के बाहर और राज्य के बाहर परिवहन संबंधी समस्याओं के लिए किसान और संबंधित पक्ष इन नंबरों पर किसी भी समय सहायता के लिए फोन कर सकते हैं।

फल, सब्जी, बीज, खाद आदि के परिवहन में आने वाली दिक्कतों के लिए मिलेगी मदद

कृषि मंत्रालय की पहल पर इस सेवा की शुरूआत की गई है जो जल्दी खराब होने वाले कृषि एवं बागवानी उत्पादों के परिवहन में आने वाली समस्याओं के समाधान के लिए सभी पक्षों के साथ समन्वय करेगा। इन नंबरों से बीज और खाद के परिवहन में आने वाली दिक्कतों के लिए भी मदद ली जा सकती है। ट्रक ड्राइवर और हेल्पर्स, व्यापारी, खुदरा विक्रेता, ट्रांसपोर्टर्स किसान, निर्माता या कोई भी अन्य हितधारक, जो कृषि और बागवानी या बीज और उर्वरकों के अलावा किसी भी अन्य आवश्यक वस्तुओं की एक से दूसरे राज्य में आवाजाही में आने वाली समस्याओं का सामना कर रहे हैं, कॉल सेंटर पर फोन करके मदद मांग सकते हैं। कॉल सेंटर पर तैनात अधिकारी समाधान के लिए राज्य सरकार के अधिकारियों से बात करेंगे।

दस लाइनों के माध्यम से चौबीसों घंटे काम करेंगे कॉल सेंटर

हरियाणा के फरीदाबाद स्थित अपने कार्यालयों से इफको किसान संचार लिमिटेड (आईसेएसएल) द्वारा संचालित, 10 लाइनों के माध्म से 8-8 घंटे की 3 शिफ्टों में चौबीसों घंटे चलाया जाएगा। आवश्यकताओं के आधार पर कॉल सेंटर सेवा को 20 लाइनों तक बढ़ाया जा सकेगा तथा कॉल सेंटर के अधिकारी भी बातचीत का रिकॉर्ड भी रखेंगे। केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान खेती-किसानी के काम को सुगम बनाने के लिए कॉल सेंटर सेवा शुरू की गई है।