Home एग्रीकल्चर एग्री बिजनेस आलू और टमाटर हुआ महंगा, प्याज की कीमतों में आई नरमी
आलू और टमाटर हुआ महंगा, प्याज की कीमतों में आई नरमी
आलू और टमाटर हुआ महंगा, प्याज की कीमतों में आई नरमी

आलू और टमाटर हुआ महंगा, प्याज की कीमतों में आई नरमी

नवरात्रों के साथ ही लंगर वालों की मांग बढ़ने से आलू और टमाटर की कीमतों में तेजी आई है, जबकि प्याज की कीमतों मेंं नरमी दर्ज की गई। दिल्ली की आजादपुर फल सब्जी मंडी में आलू के दाम 100 से 150 रुपये प्रति 50 किलो तेज हुए हैं, जबकि टमाटर के भाव 100 रुपये प्रति कैरेट (एक कैरेट-25 किलो) बढ़े हैं।

आजादपुर मंडी के सब्जी कारोबारी बलबीर सिंह भल्ला ने आउटलुक को बताया कि नवरात्रों के साथ ही लंगर वालों की मांग बढ़ने से आलू और टमाटर की कीमतों में सुधार आया है। उन्होंने बताया कि पड़ौसी राज्यों की छोटी मंडियों से पहले की तुलना में सब्जियों की मांग में सुधार आया है, साथ ही मंडी में आढ़ती माल कम मंगा रहे हैं, क्योंकि सप्ताह के शुरू में बिक्री नहीं होने से घाटा उठाना पड़ा था।

नवरात्रों के कारण प्याज की मांग घटी, आलू और टमाटर की बढ़ी

उन्होंने बताया कि मंडी में आलू का भाव बढ़कर शनिवार को 1,000 से 1,100 रुपये प्रति 50 किलो हो गया जबकि 27 मार्च को इसका भाव 900 से 950 रुपये प्रति 50 किलो था। इसी तरह से टमाटर का भाव बढ़कर 400 से 450 रुपये प्रति कैरेट हो गया, जोकि दो दिन पहले 300 से 350 रुपये प्रति कैरेट था। उन्होंने बताया कि नवरात्रों में प्याज की मांग कम हो जाती है जिस कारण इसकी कीमतों में 100 रुपये का मंदा आकर भाव 800 से 900 रुपये प्रति 40 किलो हो गए। हरी सब्जियां मंडी में 15 रुपये से 40 रुपये प्रति किलो तक बिक रही हैं।

कई राज्यों में पुलिस की सख्ती होने के कारण ट्रांसपोर्टर भी जोखिम नहीं ले रहे

दिल्ली आजादपुर मंडी की पोटेटो एंड अनियन मर्चेंट एसोसिएशन (पोमा) के महासचिव राजेंद्र शर्मा ने बताया कि मंडी में प्याज की दैनिक आवक 80 से 90 ट्रक की और आलू की आवक 100 से 110 ट्रकों की हो रही है। उन्होंने बताया कि मंडी से सब्जियों में पड़ौसी राज्यों उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान या फिर पंजाब की छोटी मंडियों की मांग पहले की तुलना में तो ठीक हुई है, लेकिन औसतन मांग अभी कम है क्योंकि कई राज्यों में पुलिस की सख्ती होने के कारण ट्रांसपोर्टर भी जोखिम नहीं ले रहे। उन्होंने बताया कि उत्पादक राज्यों की मंडियों से भी सब्जियां कम आ रही हैं। होटल बंद होने के कारण भी सब्जियों की मांग पर असर पड़ा है।