Home एग्रीकल्चर एग्री बिजनेस हरियाणा के पिंजौर में आधुनिक सुविधा युक्त सेब और गुड़गाव में फल मंडी बनेगी-जेपी दलाल
हरियाणा के पिंजौर में आधुनिक सुविधा युक्त सेब और गुड़गाव में फल मंडी बनेगी-जेपी दलाल
हरियाणा के पिंजौर में आधुनिक सुविधा युक्त सेब और गुड़गाव में फल मंडी बनेगी-जेपी दलाल

हरियाणा के पिंजौर में आधुनिक सुविधा युक्त सेब और गुड़गाव में फल मंडी बनेगी-जेपी दलाल

हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल ने कहा कि किसान धान व गेहूं की परंपरागत खेती को छोड़कर बागवानी व फूलों की खेती कर अधिक मुनाफा कमाएं। सरकार राज्य में चार-पांच बड़ी मंडियां तैयार करेगी। पिंजौर में सेब एवं फल मंडी, गुड़गांव में फूल मंडी और सोनीपत में मसालों की मंडी बनाई जायेगी।

पंचकूला के पिंजौर में बनने वाली हरियाणा की आधुनिक सेब मंडी हिमाचल प्रदेश ही नहीं बल्कि जम्मू-कश्मीर के भी सेब उत्पादक किसानों के लिये व्यापार का बड़ा केंद्र साबित होगी। 78 एकड़ में स्थापित की जा रही इस मंडी में सेब के अलावा अन्य फल व सब्जियों की भी बिक्री होगी। मंडी की आधारभूत संरचना और आधुनिक तकनीक को लेकर कृषि मंत्री जयप्रकाश दलाल ने शुक्रवार को चंडीगढ़ में अहम बैठक की।

गन्नौर में अंतर्राष्ट्रीय मंडी टर्मिनल विकसित किया जा रहा है

कृषि मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गन्नौर में अंतर्राष्ट्रीय मंडी टर्मिनल विकसित किया जा रहा है। इसके लिये लगभग 400 करोड़ रुपये की राशि भी जारी की जा चुकी है। गुरुग्राम में फूलों की मंडी और सोनीपत में मसालों की मंडी तैयार की जाएगी। गन्नौर में पांच हजार करोड़ की लागत से आधुनिक मंडी तैयार की जा रही है। इसी प्रकार पिंजौर में सेब, गुड़गांव में फ्लावर मंडी समेत चार-पांच मंडियां खुलेंगी। इससे किसान दिल्ली की आजादपुर मंडी की तर्ज पर यहां पर फलों, सब्जियों, फूलों को बेच कर अधिक लाभ कमा सकेंगे।

किसानों की आमदनी बढ़ाना राज्य सरकार का लक्ष्य

उन्होंने कहा कि अस्तित्व में आने के बाद आज तक देश में कृषि के क्षेत्र में हरियाणा प्रगतिशील राज्य है। उन्होंने कहा कि सब्जी और फलों के लिए आधुनिक मंडियां तैयार हों और किसानों की आमदनी बढ़े, इस लक्ष्य की ओर हम बढ़ रहे हैं। हिमाचल प्रदेश में लगभग 5 लाख टन और जम्मू-कश्मीर में लगभग 18 लाख टन सेब का उत्पादन होता है जिनका पिंजौर से होते हुए दिल्ली के माध्यम से पूरे देश में वितरण होता है। उन्होंने कहा कि पिंजौर में बनने वाली सेब मंडी पूरी तरह से आधुनिक होगी और किसानों और व्यापारियों के लिये हर जरूरी सुविधाओं का इसमें इंतजाम होगा।

राज्य में नकली बीज एवं दवाइयों का हो रहा है कारोबार

कृषि मंत्री ने कहा कि नकली बीजों व दवाइयों का राज्य में कारोबार हो रहा है। सरकार इस पर कड़ी नजर रखे हुए हैं और किसानों के साथ बीज व दवाइयों के नाम पर धोखाधड़ी करने वालों को किसी भी सूरत में नहीं बख्शेगी। किसानों को फसलों के बीमा का पूरा लाभ मिले इसके लिए बीमा कंपनियों को सख्त निर्देश दिए जा रहे हैं। किसान क्रेडिट कार्ड की तर्ज पर अब किसानों के लिए किसान पशु कार्ड स्कीम लागू की जा रही है, जिसकी एक दिन पहले ही सरकार ने घोषणा की है।

एजेंसी इनपुट