Home » राजनीति » राष्ट्रीय दल » बाबरी मामले का ट्रायल प्रधानमंत्री की सोची समझी राजनीति: लालू

बाबरी मामले का ट्रायल प्रधानमंत्री की सोची समझी राजनीति: लालू

APR 19 , 2017
राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बुधवार को आरोप लगाया कि बाबरी मामले का ट्रायल पीएम नरेंद्र मोदी की सोची समझी राजनीति है। उच्चतम न्यायालय ने बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की याचिका मंजूर करते हुए लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती के खिलाफ आपराधिक षडयंत्र का मुकदमा चलाने की अनुमति दी है।

पटना में पत्रकारों को संबोधित करते हुए लालू ने आरोप लगाया कि जबसे राष्‍ट्रपति पद के लिए आडवाणी के नाम की चर्चा शुरू हुई है,सीबीआई ने स्वयं उच्चतम न्यायालय में बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले का आडवाणी और अन्य के खिलाफ ट्रायल शुरू कराए जाने का आग्रह किया था।

Advertisement

उन्होंने आरोप लगाया कि राष्‍ट्रपति पद की उम्मीदवारी से आडवाणी का नाम काट दिए जाने के लिए यह नरेंद्र मोदी की एक सोची समझी राजनीति का हिस्सा है।

अपनी दलील को साबित करने के लिए लालू ने आरोप लगाया कि यह सर्वविदित है कि सीबीआई वही करती है जो केंद्र सरकार चाहती है क्योंकि सीबीआई केंद्र सरकार के अधीन आती है। लालू ने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी का विरोध करने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ खतरनाक राजनीतिक खेल खेलने में भाजपा अपने पराए के बीच भी कोई फर्क नहीं रखती।

राजद प्रमुख उच्चतम न्यायालय के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की याचिका मंजूर करने और भाजपा के वरिष्ठ नेतागण लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती के खिलाफ आपराधिक षडयंत्र के आरोप को बहाल किए जाने पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे।

लालू ने चंपारण सत्याग्रह शताब्दी समारोह के अवसर पर पूर्वी  चंपारण जिला मुख्यालय मोतिहारी में भाजपा द्वारा किसान कुंभ के आयोजन पर प्रहार करते हुए उस पर एक हाथ से गांधी जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने तथा दूसरे हाथ से उनके हत्यारे नाथूराम गोड्से को सलामी देने का आरोप लगाया। भाषा


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.