Home » राजनीति » जनादेश » दस साल पहले सीट छीनने वाले को भाजपा ने बनाया उम्मीदवार

दस साल पहले सीट छीनने वाले को भाजपा ने बनाया उम्मीदवार

FEB 16 , 2017
भाजपा ने उद्योगपति से नेता बने नंद गोपाल गुप्ता नंदी को इलाहाबाद दक्षिण विधानसभा क्षेत्र से इस उम्मीद के साथ मैदान में उतारा है कि बसपा के उम्मीदवार के तौर पर एक दशक पहले इस क्षेत्र में उसकी जीत का सिलसिला तोड़ने वाले, नंदी अब सपा के हाथों से सीट छीनने में कामयाब होंगे।

     इस सीट के लिए मतदाता 23 फरवरी को मतदान करेंगे। 43 वर्षीय नंदी समाजवादी पार्टी के मौजूदा विधायक हाजी परवेज के हाथों 2012 में मिली हार का बदला चुकाने के इरादे से मैदान में उतरेंगे। नंदी को परवेज के हाथों 400 मतों से भी कम के अंतर से हार झेलनी पड़ी थी।

Advertisement

   नंदी को तीन साल पहले निष्कासित करने वाली बसपा ने अल्पसंख्यक समुदाय के उम्मीदवारों की संतोषजनक संख्या को टिकट देने की रणनीति के तहत मसहूद खान को उम्मीदवार बनाया है।

   नंदी बसपा से निकाले जाने के बाद कांग्रेस में शामिल हुए थे और उन्होंने पिछले महीने ही पार्टी छोड़ी। समाजवादी पाटर्ी से गठबंधन के कारण कांग्रेस ने परवेज को समर्थन दिया है।

   नंदी ने जब वर्ष 2007 में पहली बार चुनाव लड़ा था, तब उन्होंने भाजपा के हाथों से यह सीट छीन ली थी। भाजपा वर्ष 1989 से इस सीट पर जीत हासिल करती आई थी। नंदी ने उस समय पांच बार के विधायक केसरीनाथ त्रिापाठी को 14,000 से अधिक मतों के अंतर से हराया था।

एजेंसी


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.