Home » बोलती तस्वीर » सामान्य » बेटे के मना करने पर बुजुर्ग महिला ने दी पति को मुखाग्नि

बेटे के मना करने पर बुजुर्ग महिला ने दी पति को मुखाग्नि

JAN 22 , 2017
बेटे द्वारा अपने पिता के अंतिम संस्कार में शामिल होने से मना करने पर एक बुजुर्ग महिला ने अपने पति के शव को बालाघाट में कटंगी रोड़ स्थित मोक्षधाम में मुखाग्नि देकर हिन्दू रीति रिवाज और परम्परा अनुसार अंतिम संस्कार किया।

सामाजिक न्याय एवं निशक्तजन विभाग के उपसंचालक वी एस बघेल ने बताया कि नूतन महिला कल्याण समिति द्वारा संचालित वृद्धा आश्रम में पिले दो साल से पत्नी सागन बाई :68: के साथ रह रहे मंगल विश्वकर्मा :75: का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया।

Advertisement

उन्होंने कहा कि बालाघाट जिले के थाना कटंगी के ग्राम अगासी :जाम: निवासी मेहतर विश्वकर्मा :40: वयोवद्ध दम्पति का इकलौता बेटा है, जिसने घरेलू झगड़ों और विवाद के बाद अपने माता-पिता को घर से निकाल दिया था। बाद में बेसहारा बुजुर्ग दम्पति सिवनी के वृद्धा आश्रम में आकर रहने लगे।

बघेल ने बताया कि लकवे से पीडि़त पिता की गंभीर हालत की जानकारी बेटे को कई बार दी गई, लेकिन वह उसे देखने तक नहीं आया। इस वयोवृद्ध दम्पति का बेटा पेशे से बढ़ई है, जिसे पिता के निधन की भी सूचना दी गई लेकिन उसने अंतिम संस्कार में आने से साफ तौर पर इंकार कर दिया।

उन्होंने कहा कि बेटे से खफा होकर सागन बाई ने अपने पति के शव को खुद ही मुखाग्नि देने का निर्णय लिया।

बघेल ने बताया कि शहर के समाजसेवियों ने आश्रम से मोक्षधाम तक मृत मंगल विश्वकर्मा की शव यात्रा निकाली और अर्थी को कंधा दिया। इसमें आश्रम की संचालिका नीतू श्रीवास्तव समेत यहां रह रहे करीब दो दर्जन वृद्धजन और कर्मचारी शामिल हुए। भाषा


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.