Home » रूबरू » सामान्य » टैरो कार्ड तो कह रहा, योगी सबको साथ लेकर चलेंगे

टैरो कार्ड तो कह रहा, योगी सबको साथ लेकर चलेंगे

MAR 27 , 2017
काफी लंबे विचार-विमर्श के बाद गोरखनाथ पीठ के महंत और भाजपा के युवा सांसद योगी आदित्‍यनाथ को यूपी का मुख्‍यमंत्री बनाया गया है। उनके मुख्‍यमंत्री बनने के बाद सभी के मन में यह है कि तेज तर्रार स्‍वभाव के योगी आदित्‍यनाथ यूपी जैसे बड़े राज्‍य में किस तरह सुशासन की स्‍थापना करेंगे।

योगी अब तक एक वर्ग विशेष की आक्रामक राजनीति के लिए जाने जाते हैं लेकिन टैरो कार्ड की माने तो योगी मुख्‍यमंत्री बनने के बाद प्रदेश के सभी वर्गों को साथ लेकर चलेंगे। यह कहना है जानी मानी टैरो कार्ड रीडर प्रीतिका मजुमदार का। टैरो कार्ड के साथ अंकशास्‍त्र और हिप्‍नोथेरेपी पर विशेष अनुभव रखने वाली मजुमदार ने ही सोशल मीडिया और विभिन्‍न टीवी चैनलों में टैरो कार्ड के आधार पर सबसे पहले कहा था कि योगी आदित्‍यनाथ के मुख्‍यमंत्री बनने की संभावनाएं सबसे प्रबल हैं।

Advertisement

मजुमदार आगे कहती हैं कि योगी उत्‍तर प्रदेश को उत्‍तम प्रदेश बनाने की पूरी कोशिश करेंगे। यूपी में एक सामाजिक सद़भाव की सरकार कायम रखेंगे। टैरो कार्ड और उनके जीवन से संबंधित महत्‍वपूर्ण अंक शायद इसी ओर संकेत कर रहे हैं। गौर हो कि योगी आदित्‍यनाथ का जन्‍म 5 जून 1972 को हुआ है। 15 फरवरी 1994 को उन्‍हें गोरखनाथ पीठ का महंत बनाया गया। 18 मार्च 2017 को मुख्‍यमंत्री नियुक्‍त होने के बाद उन्‍होंने 19 मार्च को शपथ ली है।

टैरो कार्ड और ये अंक योगी आदित्‍यनाथ को एक सफल राजनेता बनने में मदद करेंगे। मजुमदार योगी के शासन में किसी तरह के दंगे या अन्‍य सांप्रदायिक हिंसा से साफ इनकार करती हैं।

टैरो कार्ड रीडर योगी आदित्‍यनाथ को पीएम नरेंद्र मोदी के विकल्‍प के रुप में भी देखती हैं। हालांकि उनका मानना है कि 2024 तक मोदी की विजय पताका इसी तरह फहराती रहेगी। योगी के अलावा उनकी नजर में मनोहर पर्रिकर भी पीएम मोदी के दूसरे विकल्‍प के रुप में उभर सकते हैं।

2019 में कांग्रेस या अन्‍य किसी महागठबंधन की जीत पर आंशका व्‍यक्‍त करते हुए उन्‍होंने कहा कि पीएम मोदी और भाजपा को थोड़ी बहुत चुनौती मिलेगी भी तो वह 2024 में मिलेगी। कांग्रेस अभी 2024 तक कहीं से भी वापसी करती नहीं दिख रही है।

टैरो कार्ड के अनुसार कांग्रेस में गांधी परिवार के अलावा अन्‍य विकल्‍प भी उभर सकते हैं। लेकिन उन पर पार्टी में एक राय कायम होने में काफी मशक्‍कत करनी पड़ेगी। राहुल गांधी के लिए अभी कुछ भी अच्‍छा होने की उम्‍मीद नहीं है।   


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.