Home » देश » मुद्दे » भविष्य में दो हजार रूपए के नोट छापना बंद हो - बाबा रामदेव

भविष्य में दो हजार रूपए के नोट छापना बंद हो - बाबा रामदेव

JAN 10 , 2017
योग गुरू बाबा रामदेव ने नोटबंदी की तारीफ की और कहा है कि कालेधन की समस्या से निपटने के लिए भविष्य में दो हजार रूपए का नोट छापना बंद करना चाहिए।

बाबा रामदेव ने आज यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह हमेशा से बड़े नोट के खिलाफ में रहे हैं। बड़े नोट के दुष्परिणाम दिखने लगे हैं। अब दो हजार रूपए का नकली नोट भी आ गया है। बड़े नोट में वही समस्या है जिस परेशानी के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे वापस लिया था।

Advertisement

उन्होंने कहा कि बड़ा नोट नकली करेंसी के रूप में जल्दी छपता है और इसे आसानी से कहीं भी भेजा जा सकता है। वहीं इसे खोजना भी मुश्किल होता है। बाबा रामदेव ने कहा कि दो हजार रूपए के नोट को भविष्य में छापना बंद होना चाहिए। वहीं छोटे नोटों के साथ ही जहां आवश्यक हो वहां नकद का प्रयोग होना चाहिए। हम जितना डिजिटल लेनदेन की तरफ बढ़ेंगे उतनी अर्थव्यवस्था में पारदर्शिता आएगी।

योगगुरू ने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पूरा भरोसा है तथा वह देश के लिए अच्छी नीतियां बनाने का काम रहे हैं। वह वोट बैंक बनाने का कम और देश बनाने का काम ज्यादा कर रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द ही अच्छे दिन आएंगे।

बाबा रामदेव ने नोटबंदी को ऐतिहासिक और साहसिक कदम बताते हुए कहा कि देश की अर्थव्यवस्था में 80 से 85 फीसदी काला धन है। नोट के अलावा काला धन जमीन, सोना, खनिज, स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में भी लगा है। वहीं जो काला धन देश के बाहर है वह काम नहीं आ रहा है। सरकार को इन सभी मामले में कार्य करना चाहिए।

उन्होंने विश्वास जताया कि जिस तरह देश के आंतरिक व्यवस्था से काला धन निकालने के लिए कदम उठाए गए है, बाहर से भी काला धन लाने का प्रयास किया जाएगा।

बाबा रामदेव दुर्ग जिले के भिलाई शहर में मंगलवार से शुरू हो रहे योग शिविर के लिए छत्तीसगढ़ आए हैं। 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती के उपलक्ष्य में भिलाई में तीन दिवसीय योग शिविर का आयोजन किया जा रहा है।

भाषा 


अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या
एपल स्टोर से

Copyright © 2016 by Outlook Hindi.